Brazil में कोरोना से 6 लाख लोगों की गई जान, राष्ट्रपति Jair Bolsonaro के खिलाफ दर्ज होगा आपराधिक मुकदमा?
X

Brazil में कोरोना से 6 लाख लोगों की गई जान, राष्ट्रपति Jair Bolsonaro के खिलाफ दर्ज होगा आपराधिक मुकदमा?

  ब्राजील (Brazil) के राष्ट्रपति जायर बोल्सोनारो (Jair Bolsonaro) को आपराधिक मुकदमे का सामना करना पड़ सकता है. यह मुकदमा उन पर देश में कोरोना महामारी (Coronavirus) से ढंग से न निपट पाने के आरोप में चल सकता है. 

Brazil में कोरोना से 6 लाख लोगों की गई जान, राष्ट्रपति Jair Bolsonaro के खिलाफ दर्ज होगा आपराधिक मुकदमा?

ब्रासीलिया, ब्राजील:  ब्राजील (Brazil) के राष्ट्रपति जायर बोल्सोनारो (Jair Bolsonaro) को देश में कोरोना महामारी (Coronavirus) से ढंग से न निपट पाने के आरोप में 11 आपराधिक आरोपों का सामना करना पड़ सकता है. यह जानकारी मामलों की जांच के लिए बनाए गए पैनल के हेड सीनेटर Renan Calheiros ने दी है. 

राष्ट्रपति के खिलाफ मुकदमों की होगी सिफारिश?

Renan Calheiros ने एक इंटरव्यू में कहा कि जांच कमेटी देश की आबादी के खिलाफ नरसंहार, सार्वजनिक धन के अनियमित उपयोग, स्वच्छता उपायों के उल्लंघन, अपराध को उकसाने और निजी दस्तावेजों की जालसाजी जैसे आरोपों में जायर बोल्सोनारो (Jair Bolsonaro) पर मुकदमा चलाने की सिफारिश करेगी. कैलहेरोस ने कहा कि बोल्सोनारो के साथ ही उनके बेटों ओर पूर्व स्वास्थ्य मंत्री Eduardo Pazuello पर भी आरोप लगाए जाने की संभावना है.

अटॉर्नी जनरल दफ्तर भेजा जाएगा प्रस्ताव

सीनेट जांच पैनल की यह रिपोर्ट अगले मंगलवार को जारी होने वाली है. इसके बाद पैनल के सदस्य इस बात पर वोटिंग करेंगे कि राष्ट्रपति जायर बोल्सोनारो (Jair Bolsonaro) और दूसरे लोगों के खिलाफ आपराधिक मामला शुरू किए जाने की सिफारिश की जाए या नहीं. वोटिंग के बाद रिपोर्ट को देश के अटॉर्नी जनरल के कार्यालय को भेज दिया जाएगा. वे इस रिपोर्ट में की गई अनुशंसा के अनुसार कार्रवाई को आगे बढ़ाएंगे. 

निचले सदन से हासिल करना होगा अनुरोध

अटॉर्नी जनरल का कार्यालय इस रिपोर्ट के आधार पर सुप्रीम कोर्ट में राष्ट्रपति के खिलाफ आपराधिक मुकदमों की कार्रवाई शुरू कर सकता है. लेकिन उन्हें ऐसा करने के लिए संसद के निचले सदन का अनुरोध पत्र हासिल करना होगा. कानूनविदों का कहना है कि ब्राजील के निचले सदन की ओर से ऐसा अनुरोध पत्र जारी होने की संभावना बेहद कम है. 

कोरोना का मजाक उड़ाते रहे हैं बोल्सोनारो

बताते चलें कि अपने दक्षिणपंथी विचारों के लिए पहचाने जाने वाले राष्ट्रपति जायर बोल्सोनारो (Jair Bolsonaro) शुरू से कोरोना महामारी (Coronavirus) को हल्के में लेते रहे हैं. उन्होंने देश में लॉकडाउन के उपायों के खिलाफ बात की और कोरोना वैक्सीन का मजाक उड़ाया. वे मास्क पहनने का भी लगातार विरोध करते रहे. इसका नतीजा हुआ कि वे इस साल जुलाई में वे खुद कोरोना की चपेट में आ गए. 

ये भी पढ़ें- Vaccine नहीं लगवाने पर इस देश के राष्ट्रपति को स्टेडियम से बैरंग लौटाया, नहीं देख सके Football Match

ब्राजील में कोरोना से 6 लाख की मौत

उनके हठी रवैये की वजह से ब्राजील (Brazil) में करीब 6 लाख लोगों को कोरोना से अपनी जान गंवानी पड़ी. अमेरिका के बाद इतनी बड़ी संख्या में जनहानि झेलने वाला ब्राजील दुनिया का दूसरा देश है. कोरोना महामारी (Coronavirus) के खराब मैनेजमेंट की वजह से देश में उनकी लोकप्रियता भी काफी गिर चुकी है. एक बार जब उनसे देश में कोरोना मृतकों की संख्या पूछी गई तो उन्होंने कहा कि ऐसे सवालों का जवाब देकर बोर नहीं होना चाहते. 

LIVE TV

Trending news