ब्रिटिश प्रधानमंत्री टेरीजा मे पर पद छोड़ने का नए सिरे से दबाव बढ़ा

कंजरवेटिव पार्टी के 2012 से 2015 तक सह-प्रमुख रहे ग्रांट शैप्स ने आरोप लगाया कि ये लोग उन गलतियों को नजरअंदाज कर रहे हैं जो पार्टी एवं देश के मे के नेतृत्व को असमर्थनीय बनाती हैं.

ब्रिटिश प्रधानमंत्री टेरीजा मे पर पद छोड़ने का नए सिरे से दबाव बढ़ा
ब्रिटिश प्रधानमंत्री टेरीजा मे. (Reuters/5 Oct, 2017)

लंदन: ब्रिटिश प्रधानमंत्री टेरीजा मे पर अपने पार्टी के भीतर से ही पद छोड़ने का दबाव बढ़ गया है. यह बात सामने आई है कि कंजरवेटिव पार्टी के पूर्व प्रमुख उनको अपदस्थ करने की मुहिम की अगुवाई कर रहे हैं. कंजरवेटिव पार्टी के 2012 से 2015 तक सह-प्रमुख रहे ग्रांट शैप्स का दावा है कि उनके पास पार्टी के करीब 30 सांसदों का समर्थन है जिनमें कुछ पूर्व कैबिनेट मंत्री भी हैं. वह अपने समर्थक सांसदों की संख्या 48 तक ले जाने की योजना पर काम कर रहे हैं.

शैप्स ने बीसीसी से कहा, ‘‘मुझे लगता है कि यह नेतृत्व के मुद्दे से निपटने का समय है और मेरे कई साथी भी यही सोचते हैं. हम निजी तौर पर टेरीजा मे से भी यही कहना चाहते थे. अब मुझे इसका डर है कि यह सार्वजनिक रूप से किया जा रहा है.’’ संकट के इस समय में टेरीजा मे की कैबिनेट के सदस्य उनके साथ खड़े हो गए हैं, हालांकि शैप्स ने आरोप लगाया कि ये लोग उन गलतियों को नजरअंदाज कर रहे हैं जो पार्टी एवं देश के मे के नेतृत्व को असमर्थनीय बनाती हैं.

इस साल जून में हुए आम चुनाव के बाद से प्रधानमंत्री मे के इस्तीफे की मांग बढ़ती जा रही है. इस चुनाव में कंजरवेटिव पार्टी बहुमत से काफी दूर रह गई. हाल ही में मैनचेस्टर में कंजरवेटिव पार्टी के सम्मेलन में निराशाजनक भाषण के बाद मे के इस्तीफे की मांग फिर उठी.

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.