close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

मसूद अजहर का साथ देने पर अमेरिका ने चीन को चेताया, कहा- पाकिस्तान का बचाव न करें

अमेरिकी अधिकारी ने कहा, ‘‘हमारा मानना है कि चीन की यह जिम्मेदारी है कि वह पाकिस्तान का बचाव नहीं करे.

मसूद अजहर का साथ देने पर अमेरिका ने चीन को चेताया, कहा- पाकिस्तान का बचाव न करें
.(फाइल फोटो)

वॉशिंगटन: अमेरिका में ट्रंप प्रशासन के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा है कि पाकिस्तान का बचाव नहीं करना और इस्लामाबाद से आतंकवादियों पर कार्रवाई के लिए कहना चीन की जिम्मेदारी है. उन्होंने जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित करने के प्रयास में चीन द्वारा अवरोध पैदा करने पर भी चिंता जताई. अमेरिकी अधिकारी ने कहा, ‘‘हमारा मानना है कि चीन की यह जिम्मेदारी है कि वह पाकिस्तान का बचाव नहीं करे और साथ ही आतंकी संगठनों पर कार्रवाई करने के लिए पाकिस्तान का आह्वान करने में अंतरराष्ट्रीय समुदाय के साथ खड़ा हो.’’

पुलवामा आतंकी हमले के बाद मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित करने का प्रयास किया गया था, लेकिन चीन ने इससे जुड़े प्रस्ताव पर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में ‘तकनीकी रोक’ लगा दी थी.

पाकिस्तान और चीन ने एक- दूसरे के कसीदे पढ़े
पाकिस्तान और चीन के बीच पहली रणनीतिक वार्ता का केंद्र बिंदु पुलवामा आतंकी हमले के बाद भारत पाकिस्तान के बीच तनाव रहा. बीजिंग ने अंतरराष्ट्रीय समुदाय से गुजारिश की कि वह आतंकवाद से लड़ने के लिए इस्लामाबाद की प्रतिबद्धता को ‘उचित नजरिए’ से देखे. पुलवामा हमले के बाद देश से संचालित होने वाले आतंकी संगठनों पर लगाम कसने के लिए पाकिस्तान भारी अंतरराष्ट्रीय दबाव का सामना कर रहा है.

14 फरवरी को जैश-ए-मोहम्मद के फिदायीन हमलावर ने जम्मू कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर हमला कर दिया था जिसमें 40 कर्मियों की मौत हो गई थी.