Zee Rozgar Samachar

नेपाल के राजनीतिक संकट में चीन दे रहा है दखल, PM ओली के साथ चीनी राजदूत ने की बैठक

नेपाल में चीनी राजदूत होउ यानकी (Hou Yanqi) ने मंगलवार को देर शाम नेपाल के प्रधानमंत्री केपी शर्मा (KP Sharma Oli) ओली से मुलाकात की.

नेपाल के राजनीतिक संकट में चीन दे रहा है दखल, PM ओली के साथ चीनी राजदूत ने की बैठक
नेपाल के पीएम केपी शर्मा ओली और चीनी राजदूत होउ यानकी ने मुलाकात की.

कठमांडू: नेपाल में सत्तारूढ़ पार्टी नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी (Nepal Communist Party) के भीतर बढ़ते घमासान में चीन दखल देने लगा है. नेपाल में चीनी राजदूत होउ यानकी (Hou Yanqi) ने मंगलवार को देर शाम नेपाल के प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली (KP Sharma Oli) से मुलाकात की. दोनों के बीच करीब 2 घंटे तक बातचीत हुई.

पार्टी के अंदर चल रहे मुद्दों पर हुई चर्चा
पीएम सचिवालय के एक अधिकारी ने एएनआई को बताया कि चीनी राजदूत कल (मंगलवार) देर शाम आई थीं और प्रधानमंत्री केपी ओली के साथ करीब दो घंटे तक चर्चा की. बैठक के दौरान यान्की और ओली ने पार्टी के अंदर चल रहे मुद्दों को हल करने के बारे में चर्चा की.

चीनी राजदूत ने बातचीत जारी रखने पर दिया जोर
सूत्र ने बताया, 'यान्की और केपी ओली ने पार्टी को बनाए रखने के लिए पार्टी के मामलों के बारे में चर्चा की. राजदूत यान्की ने विवादों को सुलझाने और आम सहमति तक पहुंचने के लिए बातचीत जारी रखने पर जोर दिया.

दो हिस्सों में बंट गई है पार्टी
सत्तारूढ़ नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी के अंदर असंतोष की बात एकबार फिर बढ़ गई है. सचिवालय की बुधवार होने वाली बैठक को लेकर पार्टी दो हिस्सों में बंट गई है. ओली ने बैठक को स्थगित करने के लिए पुष्प कमल दहल को प्रस्ताव भेजा है, जबकि दहल बैठक करने का मन बना चुके हैं.

बैठक टालने के लिए केपी ओली ने बुलाई बैठक
सत्तारूढ़ नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी के नौ सदस्यीय सचिवालय में से 5 सदस्य यानी दहल, माधव नेपाल, झाल नाथ खनाल, बमदेव गौतम, और नारायण काजी श्रेष्ठ बैठक के लिए दबाव डाल रहे हैं. इस बीच, बिष्णु पोडेल, ईश्वर पोखरेल, और राम बहादुर थापा के साथ प्रधान मंत्री केपी शर्मा ओली बैठक को स्थगित करने के लिए तैयार हैं. बैठक को टालने के लिए केपी शर्मा ओली ने कैबिनेट की बैठक बुलाई है.

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.