close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

चीन ने ब्रिटेन से की मांग, 'न करें हांगकांग के मामले में हस्तक्षेप'

छ्वनयिंग ने कहा कि आज का हांगकांग चीन लोक गणराज्य का एक विशेष प्रशासनिक क्षेत्र है और अब यह ब्रिटेन का उपनिवेश नहीं रहा. 

चीन ने ब्रिटेन से की मांग, 'न करें हांगकांग के मामले में हस्तक्षेप'
बुनियादी कानून के मुताबिक हांगकांग विशेष प्रशासनिक क्षेत्र के विदेश मामलों को चीन की केंद्र सरकार द्वारा निपटाया जाना चाहिए.

बीजिंग: हांगकांग के मामलों में कोई भी विदेशी हस्तक्षेप नहीं कर सकता. चीन ब्रिटेन से हांगकांग मामलों में हस्तक्षेप न करने और चीन के अंदरुनी मामलों में दखल देने की किसी भी कार्रवाई को बंद करने की कड़ी मांग करता है. यह बात चीनी विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता हुआ छ्वनयिंग ने कही. रिपोर्ट है कि ब्रिटिश विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा कि ब्रिटिश विदेश मंत्री डोमिनिक राब ने 9 अगस्त को हांगकांग की स्थिति को लेकर हांगकांग विशेष प्रशासनिक क्षेत्र की प्रमुख प्रशासक कैरी लैम के साथ फोन पर बातचीत की. 

इस पर टिप्पणी करते समय हुआ छ्वनयिंग ने कहा कि आज का हांगकांग चीन लोक गणराज्य का एक विशेष प्रशासनिक क्षेत्र है और अब यह ब्रिटेन का उपनिवेश नहीं रहा. हांगकांग पर ब्रिटेन की प्रभुसत्ता नहीं है और प्रशासन एवं निगरानी का अधिकार नहीं है. 

बुनियादी कानून के मुताबिक हांगकांग विशेष प्रशासनिक क्षेत्र के विदेश मामलों को चीन की केंद्र सरकार द्वारा निपटाया जाना चाहिए. ब्रिटिश सरकार द्वारा प्रत्यक्ष रूप से हांगकांग विशेष प्रशासनिक क्षेत्र की प्रमुख प्रशासक को फोन करना गलत बात है. चीन ने गंभीर रूप से ब्रिटेन से तुरंत सभी हस्तक्षेप संबंधी कार्रवाई को बंद करने और चीन के अंदरूनी मामलों में दखल न देने की मांग की.

(साभार: चाइना रेडियो इंटरनेशनल, पेइचिंग)