Zee Rozgar Samachar

Afghanistan से अमेरिकी सैनिकों के हटने से चीन को किस बात का डर? US से की ये अपील

अमेरिकी रक्षा सचिव क्रिस्टोफर मिलर (Christopher Miller) पिछले हफ्ते कहा था कि अमेरिका (America) 15 जनवरी तक अफगानिस्तान (Afghanistan) में अपनी सैन्य उपस्थिति को 4500 से कम कर 2500 सैनिक करेगा.

Afghanistan से अमेरिकी सैनिकों के हटने से चीन को किस बात का डर? US से की ये अपील
(फाइल फोटो)

बीजिंग: चीन (China) ने अफगानिस्तान (Afghanistan) से अमेरिका द्वारा अपनी सेना को हटाए जाने के फैसले पर चिंता जाहिर की है. इसके साथ ही चीन ने अमेरिका (America) से आग्रह किया कि वो अफगानिस्तान से अपने सैनिकों को एक व्यवस्थित और जिम्मेदार तरीके से हटाए.

अमेरिका हटा रहा है 2000 सैनिक
चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता झाओ लिजियन (Zhao Lijian) की यह टिप्पणी अमेरिकी रक्षा सचिव क्रिस्टोफर मिलर के बयान के बाद आई है. उन्होंने पिछले हफ्ते कहा था कि अमेरिका (America) 15 जनवरी तक अफगानिस्तान में अपनी सैन्य उपस्थिति को 4500 से कम कर 2500 सैनिक करेगा.

LIVE टीवी

चीन को इस बात का है डर
चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा कि अफगानिस्तान (Afghanistan) से अमेरिकी सैनिक हटाए जाने से वहां सुरक्षा स्थिति अधिक गंभीर हो सकती है और उइगर आतंकवादियों को बढ़ने का मौका मिल सकता है. बता दें कि चीन (China) अफगानिस्तान के साथ झिंजियांग प्रांत की सीमा साझा करता है.

ये भी पढ़ें- US President Joe Biden ने किया अपनी टीम का ऐलान, जानें किसे क्या मिला

अफगानिस्तान में शांति की अपील
झाओ लिजियन ने मीडिया ब्रीफिंग में बताया, 'चीन ने विदेशी सैनिकों से एक व्यवस्थित और जिम्मेदार तरीके से अफगानिस्तान छोड़ने के लिए अपील किया है. वहां आतंकवादी ताकतों को बढ़ने का जगह ना दें और अफगानिस्तान की शांति और सुलह प्रक्रिया में योगदान दें.'

चीन ने काबुल हमले की निंदा की
उन्होंने काबुल में हाल ही में हुए इस्लामिक स्टेट (ISIS) के हमले की भी निंदा की और कहा कि चीन आतंकवाद का मुकाबला करने और राष्ट्रीय स्थिरता व रक्षा के अपने प्रयासों में लोगों को मजबूती से समर्थन देना जारी रखेगा. प्रवक्ता ने कहा, 'चीन अफगान सरकार और जनता द्वारा आतंकवाद पर प्रहार करने का समर्थन करता है.'

ये भी पढ़ें- चीन के लिए Trump से भी ज्यादा बड़ा खतरा हैं Joe Biden, चीनी विशेषज्ञ ने बताई वजह

बढ़ सकती है चीन की परेशानी
जानकारों का कहना है कि अफगानिस्तान से अमेरिकी सैनिकों के तेजी से हटाने का फैसला नवीनतम योजना का हिस्सा हो सकता है, क्योंकि इससे चीन की परेशानी बढ़ सकती है. अमेरिका का यह फैसला अलगाववादी आतंकी संगठन ईस्ट तुर्किस्तान इस्लामिक मूवमेंट (ईटीआइएम) से प्रतिबंध हटाने के बाद आया है.

ट्रंप प्रशासन ने उइगर से हटाया प्रतिबंध
इस संगठन को अल-कायदा, ओसामा बिन लादेन तथा तालिबान के साथ जुड़ाव के लिए यूएन की 1267 आतंकवाद निरोधी कमेटी ने 2002 में आतंकवादी संगठन घोषित किया था. हालांकि इस साल 5 नवंबर को ट्रंप प्रशासन ने ईटीआइएम से प्रतिबंध हटा लिया.

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.