AI टेक्नोलॉजी की गलती आई सामने, फोटो को इंसान समझ सिग्नल तोड़ने का लगाया जुर्माना

विज्ञापन में लगे कंपनी की महिला सीईओ के फोटो को आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस ने इंसान समझकर सिग्नल तोड़ने का जुर्माना लगा दिया.

AI टेक्नोलॉजी की गलती आई सामने, फोटो को इंसान समझ सिग्नल तोड़ने का लगाया जुर्माना
चीन के शहरों में एआई टेक्नोलॉजी से लैस कैमरे लगाए गए हैं. फोटो साभार: (द स्टार ऑनलाइन)

नई दिल्ली: चीन में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) की बड़ी गलती सामने आई है. इंसानी दिमाग की तरह काम करने वाली इस टेक्नोलॉजी के कैमरे ने एक महिला की फोटो को असली चेहरा समझ स्कैन कर लिया और ट्रैफिक सिग्नल तोड़ने के आरोप में जुर्माना लगा दिया. अब पुलिस ने इस मामले में माफी मांगी है.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, चीन में एयर कंडीशनर बनाने वाली फेमस कंपनी ग्री इलेक्ट्रिक एप्लायंसेस की सीईओ दोंग मिंग्झू का फोटो शेनचेन शहर के चौराहों पर लगी स्क्रीन्स पर डिस्प्ले होने लगा. आरोप था कि लाल बत्ती होने के बावजूद मिंग्झू ने सड़क को पैदल पार किया. जब सीईओ के पास जुर्माने का मैसेज पहुंचा तो वह चकित हो गईं, क्योंकि उस दिन वह शेनचेन शहर में नहीं थीं.

जांच करने पर मिली खामी
दोंग मिंग्झू की आपत्ति के बाद शहर की ट्रैफिक पुलिस ने चौराहे पर लगे सीसीटीवी कैमरों को खंगाला तो सामने आया कि एआई ने एक बस लगे एसी के विज्ञापन (जिस पर सीईअो दोंग मिंग्झू का फोटो छपा था) को स्कैन कर लिया और उसे इंसानी चेहरा समझ लिया. इसके बाद ट्रैफिक नियमों का पानल न करने वाले अन्य लोगों  की तरह मिंग्झू की छवि को धूमिल करने के लिए उनका फोटो डिस्प्ले किया जाने लगा. रोबोट में अपने आप भी विकसित हो सकता है पूर्वाग्रह : अध्ययन

पुलिस की माफी
इस तरह का मामला सामने आने पर चीन पुलिस ने ग्री इलेक्ट्रिक एप्लायंसेस कंपनी की सीईओ से माफी मांग ली है. इसके साथ ही उनके फोटो को सिस्टम से डिलीट कर दिया गया है. टीवी पर न्यूज पढ़ने वाला एंकर असली है या नकली, पहचानना होगा मुश्किल

AI टेक्नोलॉजी से लैस कैमरे
चीन के बीजिंग और शंघाई समेत लगभग सभी शहरों में आर्टिफिशियल टेक्नोलॉजी से लैस कैमरे चौराहों पर लगाए गए हैं, जो कि ट्रैफिक नियमों को तोड़ने वाले लोगों की फोटो खींच लेते हैं और चौराहों पर लगे स्क्रीन्स पर डिस्प्ले कर देते हैं ताकि इससे उन्हें सबक मिल सके.