Zee Rozgar Samachar

चीन का दावा, सबसे कम खुराक में अधिकतम एंटीबॉडी बनाने वाली Covid Vaccine पास

चीनी वैक्सीन (Covax) बना रही एक कंपनी ने दावा किया है कि उसकी कोरोना वैक्सीन (Coronavirus Vaccine) के अच्छे परिणाम आए हैं. खासकर 18 से 59 वर्ष की आयु के वॉलंटियर्स में तेजी से एंटीबॉडी बन रही हैं.

चीन का दावा, सबसे कम खुराक में अधिकतम एंटीबॉडी बनाने वाली Covid Vaccine पास
प्रतीकात्मक चित्र.

बीजिंग: कोरोना वायरस (Coronavirus) संकट के के दौर से गुजर रहे दुनियाभर के देश कोरोना वायरस वैक्सीन (Coronavirus Vaccine) जल्द से जल्द विकसित करने के लिए हर संभव प्रयास कर रहे हैं. इस बीच कुछ देशों की वैक्सीन अंतिम चरण में पहुंचने के बाद भी सुराक्षात्मक परीक्षण में पास नहीं हो पाई है. लेकिन वैक्सीन विकास की दिशा में चीन (China) तेजी से आगे बढ़ रहा है. चाइनीज कोविड वैक्स (Chinese Corona Vaccine) के परिणाम अच्छे आ रहे हैं.

28 दिन तक हुआ ऑब्जर्वेशन
चीनी वैक्सीन (Covax) बना रही एक कंपनी ने दावा किया है कि उसकी कोरोना वैक्सीन (Coronavirus Vaccine) के प्रारंभिक नैदानिक परीक्षण में अच्छे परिणाम आए हैं. खासकर 18 से 59 वर्ष की आयु के स्वयंसेवकों में तेजी से एंटीबॉडी बन रही हैं. एक अध्ययन के अनुसार, परीक्षण के दूसरे चरण की शुरुआत तब की गई जब पहले चरण में सभी प्रतिभागियों ने अपनी पहली खुराक के बाद 7 दिवसीय ऑब्जर्वेशन अवधि पूरी कर ली थी. 3 मई और 5 मई के बीच हुए परीक्षण में 600 वॉलंटियर्स ने भाग लिया था. इसके बाद प्रतिभागियों को 14 दिन और 28 दिन के टीकाकरण कार्यक्रम के लिए दो समूहों में विभाजित किया गया. इस दौरान एंटीबॉडी (Antibody) का उत्पादन करने वाले प्रतिभागियों का अनुपात काफी अधिक आया.

यह भी पढ़ें: क्या दिल्ली में फिर से बंद होंगे बाजार? स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने दिया ये जवाब

दो टीके पर्याप्त
रिसर्च के अनुसार, 28 दिनों के अंदर 14-14 दिनों के अंतराल में दो बार लगाए गए टीकों के बाद एंटीबॉडी डवलप हो जाती हैं. दावा किया जा रहा है कि सबसे कम खुराक वाली इस वैक्सीन से अधिकतम एंटीबॉडी बन रही हैं. वैक्सीन विकसित करते समय यह ध्यान रखा जा रहा है कि किसी भी तरह के साइड इफेक्ट्स न हों. जियांगसू (Jiangsu) रोग नियंत्रण और रोकथाम प्रांतीय केंद्र के रिसर्चर फेंग्काई झू ने कहा है, ‘हम मानते हैं यह वैक्सीन महामारी के दौरान आपातकालीन उपयोग के लिए उपयुक्त है.’

LIVE TV

नवंबर अंत तक मिल सकती है सफलता
बता दें, चीन को चार वैक्सीन के उपयोग के लिए अप्रूवल मिला है. इन्हीं में से एक है को-वैक्स. चीन दावा कर रहा है, 2021 के अंत तक 200 करोड़ वैक्सीन के डोज अन्य देशों को पहुंचाएगा. चीन के मुताबिक नवंबर 2020 के अंत तक वह कोरोना वायरस वैक्सीन बनाने में पूर्ण रूप से सफलता पा लेगा.

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.