'आज पूरी तरह से 'खत्म' हो जाएगी पृथ्वी'

हमारी पृथ्वी को 27 सितंबर की खगोलीय घटना 'ब्लड मून' से भले ही कोई नुकसान न पहुंचा हो लेकिन पृथ्वी कल (बुधवार) को हमेशा के लिए समाप्त हो जाएगी। एक ईसाई संगठन ने पृथ्वी के पूरी तरह खत्म हो जाने की चेतावनी जारी की है।

'आज पूरी तरह से 'खत्म' हो जाएगी पृथ्वी'

नई दिल्ली : हमारी पृथ्वी को 27 सितंबर की खगोलीय घटना 'ब्लड मून' से भले ही कोई नुकसान न पहुंचा हो लेकिन पृथ्वी कल (बुधवार) को हमेशा के लिए समाप्त हो जाएगी। एक ईसाई संगठन ने पृथ्वी के पूरी तरह खत्म हो जाने की चेतावनी जारी की है।

'द गार्जियन' की रिपोर्ट के मुताबिक फिलाडेल्फिया स्थित ईसाई संगठन 'द ई बाइबिल फेलोशिप' ने अक्टूबर विनाश नाम की भविष्यवाणी की है। ईसाई संगठन की यह भविष्यवाणी उसके पहले के दावे पर आधारित है। इस दावे में संगठन ने कहा था कि दुनिया 21 मई 2011 को समाप्त हो जाएगी। हालांकि, संगठन का यह दावा गलत साबित हुआ लेकिन संगठन को इस बार पूरा विश्वास है कि इस बार उसकी चेतावनी सही साबित होगी।

रिपोर्ट के मुताबिक फेलोशिप के संस्थापक क्रिश मैककैन ने कहा, 'बाइबिल से जो बातें निकल रही हैं उसके अनुसार ऐसा लगता है कि सात अक्टूबर ही वह दिन है जिसके बारे में ईश्वर ने संकेत किया है। इस दिन दुनिया खत्म हो जाएगी। पृथ्वी हमेशा के लिए समाप्त हो जाएगी और इसका विनाश हो जाएगा।'

मैककैन ने कहा कि बाइबिल की व्याख्या के मुताबिक दुनिया 'आग की लपटों' से जलकर खाक हो जाएगी।

ज्ञात हो कि 27 सितंबर को पृथ्वी की छाया से चंद्रमा के गुजरने के दौरान चंद्रग्रहण पड़ा था। इस खगोलीय घटना को 'ब्लड मून' कहा जाता है क्योंकि ग्रहण के दौरान चंद्रमा पर लालिमा देखी गई। इस घटना के बारे में कुछ धार्मिक संस्थाओं ने कहा था कि 'ब्लड मून' की वजह से हमारी पृथ्वी विनाश की तरफ बढ़ेगी।

लेकिन इस नई भविष्यवाणी के अनुसार इस बार पृथ्वी के विनाश में कोई अवरोध नहीं आएगा और सात अक्टूबर के दिन दुनिया पूरी तरह समाप्त हो जाएगी।

मैककैन ने कहा, 'ईश्वर ने नोआह समय में पहली पृथ्वी का विनाश बाढ़ के जरिए किया था और उनका कहना है कि इस बार पृथ्वी का विनाश वह जल के जरिए नहीं करेंगे बल्कि आग से करेंगे।'

गौरतलब है कि पृथ्वी के विनाश को लेकर वैज्ञानिकों की अलग-अलग राय है लेकिन ईसाई संगठन के कल के दावे को लेकर वैज्ञानिकों की तरफ से कोई बात नहीं कही गई है। पृथ्वी के विनाश को लेकर सबसे सर्वमान्य बात यह है कि सूरज का तापमान दिनोंदिन बढ़ रहा है और एक दिन सूरज का इतना विस्तार हो जाएगा कि पृथ्वी उसमें समाहित हो जाएगी। कुछ वैज्ञानिकों का मानना है कि ऐसा होने में 7.6 अरब साल का समय लगेगा।   

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.