Bhutan में भी हो सकता था तख्तापलट, Police ने Judge और Army Officer को गिरफ्तार कर नाकाम की साजिश

मीडिया रिपोर्ट में कहा गया है कि हिरासत में लिए गए न्यायाधीश और सैन्य अधिकारी ने शीर्ष पद पाने के लिए साजिश रची थी. उनका मकसद आरबीए का  मुख्य परिचालन अधिकारी, सर्वोच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश और सर्वोच्च न्यायालय के अटॉर्नी जनरल या रजिस्ट्रार जनरल बनना था.   

Bhutan में भी हो सकता था तख्तापलट, Police ने Judge और Army Officer को गिरफ्तार कर नाकाम की साजिश
भूटान के प्रधानमंत्री लोते सेरिंग (फाइल फोटो)

थिंपू: भारत के पड़ोसी भूटान (Bhutan) में तख्तापलट की बड़ी साजिश नाकाम हुई है. पुलिस ने सरकार के खिलाफ साजिश रचने के आरोप में सुप्रीम कोर्ट के दो जजों (Judges) और सेना के अफसर (Army Officer) को हिरासत में लिया है. पुलिस (Police) का कहना है कि ये तीनों भूटान के चीफ जस्टिस, सेना प्रमुख और वरिष्ठ विधि अधिकारी को पद से हटाना चाह रहे थे. स्थानीय मीडिया के अनुसार, कथित आपराधिक साजिश का खुलासा कुछ माह पहले एक महिला की गिरफ्तारी के बाद हुआ था, जिसका साजिशकर्ताओं से संबंध था. 

Court में चार्जशीट दाखिल

भूटान (Bhutan) के सरकारी अखबार कुएंसेल के अनुसार, पुलिस ने बुधवार को सुप्रीम कोर्ट के सीनियर जज कुएनले तर्शिंग (Justice Kuenley Tshering), पूर्व सैन्य अधिकारी एवं पूर्व रॉयल गार्ड कमांडर ब्रिगेडियर थिनले टोबेगी (Thinley Tobgay) और सहयोगी जज येशी दोरजी (Yeshey Dorji) को हिरासत में ले लिया है, तीनों से पूछताछ की जा रही है. थिंपू जिला अदालत में इस संबंध में चार्जशीट भी दाखिल हो गई है और अगले 10 दिनों में सुनवाई संभव है. 

ये भी पढ़ें -पहली बार China ने कबूला Galwan Valley Clash में Indian Army ने मार गिराए थे उसके पांच सैनिक

VIDEO

ये था आरोपियों का मकसद

मीडिया रिपोर्ट में कहा गया है कि तीनों ने शीर्ष पद पाने के लिए साजिश रची थी. उनका मकसद आरबीए का  मुख्य परिचालन अधिकारी, सर्वोच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश और सर्वोच्च न्यायालय के अटॉर्नी जनरल या रजिस्ट्रार जनरल बनना था. The Bhutanese के अनुसार, बुधवार शाम ऑफिस टाइम खत्म होने के बाद, रॉयल भूटान पुलिस ने सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीश तर्शिंग और जिला न्यायाधीश येशी दोरजी को हिरासत में ले लिया. न्यायाधीश तर्शिंग को उनके घर से हिरासत में लिया गया था. इससे पहले पूर्व रॉयल बॉडी गार्ड कमांडेंट ब्रिगेडियर थिनले टोबेगी को हिरासत में लिया गया था.

कई आरोपों में दर्ज हुआ Case

कुएंसेल अखबार के अनुसार सुप्रीम कोर्ट के जज तर्शिंग और येशी दोरजी पर 11 आरोपों के साथ मुकदमा दर्ज किया गया है, जबकि पूर्व रॉयल गार्ड कमांडर ब्रिगेडियर टोबेगी के खिलाफ पांच आरोप लगाए गए हैं. अदालत ने गुरुवार को हुई एक सुनवाई के दौरान इन सभी को जमानत देने से इनकार कर दिया था. रिपोर्ट में कहा गया है कि थिनले को हिरासत में लेने के बाद उनसे कुछ ऐसे दस्तावेज भी बरामद हुए हैं, जिन्हें वे अवैध रूप से रखे हुए थे. 

 

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.