डोकलाम विवाद पर भारत से जारी तनाव के बीच चीन ने किया युद्धाभ्यास

डोकलाम विवाद पर भारत से जारी तनाव के बीच चीन ने किया युद्धाभ्यास
जुलाई महीने में तिब्बत क्षेत्र में चीनी सेना के युद्धाभ्यास की तस्वीर (फोटोः फाइल सीजीटीएन)

नई दिल्लीः डोकलाम और लद्दाख में भारतीय सैनिकों द्वारा खदेड़े जाने से बौखलाए चीन ने अब युद्ध की रणनीति बनाई है. मीडिया में चल रही खबरों की मानें तो चीन ने युद्धाभ्यास किया है. चीन के चैनल चाइना सेंट्रल टेलीविजन यानि CCTV ने अपनी रिपोर्ट में पांच मिनट का वीडियो दिखाया है. जिसमें चीन की सेना की एविएशन यूनिट समेत 10 यूनिटों ने साझा युद्धाभ्यास किया है.चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी ने ये मिलिट्री ड्रिल वेस्टर्न चीन में एक पठार पर की है जिसमें बड़े पैमाने पर जंगी हथियारों का इस्तेमाल किया गया. इसमे स्पेशल फोर्स, आर्मी एविएशन और सशस्त्र सैनिकों ने भाग लिया. इस लाइव फायर ड्रिल में टैंक, हेलीकॉप्टर और लड़ाकू विमानों का इस्तेमाल किया गया. चीनी सैनिकों ने युद्ध की नई तकनीकों का भी अभ्यास किया. कमांडर के आदेश पर टैंकों ने टारगेट को हिट किया वहीं आसमान में उड़ते जंगी जहाजों ने भी बम बरसाए. रात के वक्त जमीन पर कैसे युद्ध लड़ा जाएगा इसका भी अभ्यास किया गया.

भारतीय सेना भी लगातार अपनी ताकत बढ़ा रही है 

चीन से तनातनी के बीच भारत की सेना लगातार अपनी ताकत बढ़ा रही है. टी-90 टैंक में तीसरी पीढ़ी की मिसाइल प्रणाली लगाने की तैयारी की जा रही है. सेना के सूत्रों के मुताबिक, टी-90 टैंक में पहले से ही मिसाइल दागने की क्षमता थी, लेकिन अब इसे अपग्रेड किया जा रहा है.

चीन ने जुलाई में तिब्बत में भी किया था युद्धाभ्यास

आपको बता दें कि चीन के टीवी द्वारा जारी किए गए एक वीडियो में ये दावा किया गया था कि चीन ने तिब्बत पठार क्षेत्र में एक महीना पहले भी युद्धाभ्यास किया था. ये वीडियो चीन के टीवी चैनल CGTN ने जारी किया था.  

क्या है डोकलाम विवाद

दरअसल डोकलाम जिसे भूटान में डोलम कहते हैं. करीब 300 वर्ग किलोमीटर का ये इलाका चीन की चुंबी वैली से सटा हुआ है और सिक्किम के नाथुला दर्रे के करीब है. इसलिए इस इलाके को ट्राई जंक्शन के नाम भी जाना जाता है. ये डैगर यानी एक खंजर की तरह का भौगोलिक इलाका है, जो भारत के चिकन नेक यानी सिलिगुड़ी कॉरिडोर की तरफ जाता है. चीन की चुंबी वैली का यहां आखिरी शहर है याटूंग. चीन इसी याटूंग शहर से लेकर विवादित डोलम इलाके तक सड़क बनाना चाहता है.

इसी सड़क का पहले भूटान ने विरोध जताया और फिर भारतीय सेना ने. भारतीय सैनिकों की इस इलाके में मौजूदगी से चीन हड़बड़ा गया है. चीन को ये बर्दाश्त नहीं हो रहा कि जब विवाद चीन और भूटान के बीच है तो उसमें भारत सीधे तौर से दखलअंदाजी क्यों कर रहा है.16 जून से भारत और चीन की सेना के बीच गतिरोध जारी है.