आरोपों पर बोले अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप, 'मैं नस्लवादी नहीं हूं'

ट्रंप ने कहा, ''नहीं-नहीं मैं नस्लवादी नहीं हूं.जितने भी लोगों का आपने अभी तक साक्षात्कार किया होगा उनमें से मैं सबसे कम नस्लवादी व्यक्ति हूं. यह मैं आपकों बता सकता हूं''.

आरोपों पर बोले अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप, 'मैं नस्लवादी नहीं हूं'
अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप. (फाइल फोटो)

वाशिंगटनः अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कुछ देशों के प्रवासियों के खिलाफ दिए गए बयानों पर विवाद खत्म करने की मांग की है. विवाद खत्म करने की मांग करते हुए डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि वह नस्लवादी नहीं है. स्थानीय मीडिया को संबोधित करते हुए ट्रंप ने कहा, ''नहीं-नहीं मैं नस्लवादी नहीं हूं.जितने भी लोगों का आपने अभी तक साक्षात्कार किया होगा उनमें से मैं सबसे कम नस्लवादी व्यक्ति हूं. यह मैं आपकों बता सकता हूं''.

दरअसल पिछले सप्ताह द्विदलीय समूहों के साथ हुई बैठक में डोनाल्ड ट्रंप ने कहा था कि बैठक में शामिल कुछ प्रतिभागी खास घटिया देशों के आव्रजकों के लिए दबाव डाल रहे हैं. ट्रंप की इस टिप्पणी के बाद उन्हें काफी विरोधों और आलोचनाओं का सामना करना पड़ा रहा था. स्थानीय राजनीतिक दल ट्रंप पर लगातार निशाना साधने में लगे हुए थे. आलोचानाओं का शिकार होने के बाद डोनाल्ड ट्रंप एक बार फिर मीडिया से मुखातिब हुए. फ्लोरिडा में सदन में सत्तापक्ष के नेता केविन मैक्कार्थी के साथ डिनर पर जाते हुए ट्रंप ने कहा कि वह नस्लवादी इंसान नहीं है. 

यह भी पढ़ें: अमेरिका में कुछ इस तरह से तबाही मचाएगा उत्तर कोरिया, तैयारी पूरी

यह कोई पहला मौका नहीं है जब ट्रंप को आलोचनाओं को शिकार होना पड़ा हो. इससे पहले पिछले साल अगस्त महीने में वर्जीनिया में श्वेतों को श्रेष्ठ समझने वालों लोगों की रैली के दौरान हिंसा भड़कने पर मौन प्रतिक्रिया के लिए अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप रिपब्लिकन और डेमोक्रेट दोनों की आलोचनाओं का सामना करना पड़ा था. 

यह भी पढ़ें: शी जिनफिंग के साथ होने वाला सम्मेलन रहेगा ‘बेहद मुश्किल’:डोनाल्ड ट्रंप

इस हिंसा के दौरान ट्रंप ने कई पक्षों की ओर से हिंसा की निंदा की थी लेकिन धुर-दक्षिणपंथी समूहों की स्पष्ट रूप से आलोचना करने से बचते दिखे. हालांकि बाद में व्हाइट हाउस ने एक वक्तव्य में सफाई देते हुए बताया कि उन्होंने श्वेतों को श्रेष्ठ मानने वालों की भी निंदा की थी. चार्लोट्सविले में जवाबी प्रदर्शन कर रही भीड़ पर कार चढ़ाने की घटना में एक महिला की मौत हो गई थी जबकि 19 अन्य घायल हो गए थे.

यह भी पढ़ेंः वर्जीनिया में हिंसा पर मौन प्रतिक्रिया के लिए ट्रंप की हो रही आलोचना

वर्जीनिया के गवर्नर डेमोक्रेट टेरी मैकऑलिफ ने कहा, मैं राष्ट्रपति से कहना चाहता हूं कि वे आज सामने आएं, ऐसा ही मैं देश के हर निर्वाचित अधिकारी से कहता हूं. छिपे नहीं. मजबूत रहें और सही चीज करें. श्वेतों को सर्वोच्च मानने वालों को कहें, नव नाजियों को कहें, के सदस्यों, उन सबसे कहें. बस बहुत हो चुका, हमारे देश से निकल जाओ, यहां आपकी जरूरत नहीं, आप हमें विभाजित कर रहे हैं.