पाकिस्तान के आतंकवादी समूहों को सुरक्षित पनाहगाह मुहैया कराने के दिन लदे: अमेरिका

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने तालिबान और अन्य आतंकवादी संगठनों को अपनी धरती पर सुरक्षित पनाहगाह मुहैया कराने को लेकर पाकिस्तान को चेतावनी दी है.

पाकिस्तान के आतंकवादी समूहों को सुरक्षित पनाहगाह मुहैया कराने के दिन लदे: अमेरिका
अमेरिका की पाक को चेतावनी (फाइल फोटो)

वाशिंगटन: अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने तालिबान और अन्य आतंकवादी संगठनों को अपनी धरती पर सुरक्षित पनाहगाह मुहैया कराने को लेकर पाकिस्तान को चेतावनी दी है. अमेरिका के उपराष्ट्रपति माइक पेंस ने अपनी अघोषित अफगानिस्तान यात्रा के दौरान यह बात कही. अफगानिस्तान के बगराम एयरबेस में अमेरिका सैनिकों से पेंस ने कहा, ‘‘पाकिस्तान लंबे समय से तालिबान और अन्य आतंकवादी समूहों को सुरक्षित पनाहगाह मुहैया करा रहा है, लेकिन अब वह दिन लद गए.’’ बड़ी बख्तरबंद गाड़ियों और क्रिसमस की सजावट के बीच हैंगर में 500 सैनिकों को संबोधित करते हुए पेंस ने कहा, ‘‘राष्ट्रपति ट्रंप ने पाकिस्तान को चेतावनी दे दी है.’’

उपराष्ट्रपति ने कहा, ‘‘जैसा कि राष्ट्रपति ने कहा, मैं वही कह रहा हूं. पाकिस्तान को अमेरिका के साथ साझेदारी से बहुत कुछ मिलना है, जबकि पाकिस्तान अपराधियों और आतंकवादियों के साथ गठजोड़ से बहुत कुछ गंवा सकता है.’’ पेंस ने दोनों पड़ोसियों भारत और अफगानिस्तान के खिलाफ राज्येतर तत्वों को इस्तेमाल करने की राष्ट्रीय सुरक्षा नीति को लेकर पाकिस्तान को कड़ी चेतावनी दी है. उन्होंने कहा कि ट्रंप पूरे अमेरिकी सैन्य बल का प्रयोग कर रहे हैं.

पाकिस्तान का दावा- हमारी जमीन पर आतंकवादियों की कोई सुरक्षित पनाहगाह नहीं

उन्होंने कहा, ‘‘हमारे सशस्त्र बलों के प्रभाव को सीमित करने वाले प्रतिबंधों को हमने हटा दिया है, इसलिए जैसा कि राष्ट्रपति ने कहा, आप लोग दुश्मन के खिलाफ पूरी तरह से अपनी सैन्य शक्ति का प्रयोग कर सकते हैं.’’ उपराष्ट्रपति के अनुसार, ट्रंप प्रशासन ने सैनिकों को आतंकवादियों के खिलाफ सीधी कार्रवाई करने का अधिकार दे दिया है, इससे कोई फर्क नहीं पड़ता है कि वह आतंकवादी कहां छुपे हैं.

पेंस ने कहा कि उनकी यह नयी रणनीति अफगानिस्तान में अच्छे परिणाम दे रही है.