मुस्लिम ब्रदरहूड के सर्वोच्च मार्गदर्शक मोहम्मद बदी को उम्रकैद

मिस्र की एक अपराध अदालत ने साल 2013 में थाने पर धावा बोलने के मामले में मुस्लिम ब्रदरहूड के सर्वोच्च मार्गदर्शक मोहम्मद बदी, दो वरिष्ठ नेताओं और 90 से अधिक दूसरे सदस्यों को उम्रकैद की सजा सुनाई है।

काहिरा : मिस्र की एक अपराध अदालत ने साल 2013 में थाने पर धावा बोलने के मामले में मुस्लिम ब्रदरहूड के सर्वोच्च मार्गदर्शक मोहम्मद बदी, दो वरिष्ठ नेताओं और 90 से अधिक दूसरे सदस्यों को उम्रकैद की सजा सुनाई है।

अदालत ने 72 साल के बदी के अलावा संगठन के दूसरे वरिष्ठ नेताओं सफवत हेगाजी और मोहम्मद अल बेलगाती को भी उम्रकैद की सजा सुनाई है। 92 दूसरे सदस्यों को भी सजा सुनाई गई है। मिस्र में उम्रकैद की सजा 25 साल होती है।

इस मामले में 28 अन्य को 10 साल की सजा सुनाई गई है, जबकि 68 अन्य लोगों को बरी कर दिया गया। यह मामला पोर्ट सईद शहर में अल-अरब थाने पर ब्रदरहूड के सदस्यों को धावा बोलने के लिए उकसाने से संबंधित है। यह घटना अगस्त, 2013 में हुई थी। इसमें पांच नागरिक मारे गए थे और कई पुलिसकर्मी घायल हो गए थे।