सबके सामने महिला टीवी रिपोर्टर को जड़ दिया थप्‍पड़; सबकुछ दिखा LIVE
X

सबके सामने महिला टीवी रिपोर्टर को जड़ दिया थप्‍पड़; सबकुछ दिखा LIVE

महिलाओं के साथ होने वाली हिंसा और उत्‍पीड़न को रोकने के लिए आयोजित किए गए एक इवेंट की लाइव रिपोर्टिंग कर रही महिला पत्रकार को ही उत्‍पीड़न का शिकार होना पड़ा. 

सबके सामने महिला टीवी रिपोर्टर को जड़ दिया थप्‍पड़; सबकुछ दिखा LIVE

इटली: इटली के एम्‍पोली के कार्लो कास्‍टेलानी स्‍टेडियम के बाहर एक टीवी रिपोर्टर के साथ अजीब घटना हुई. टोस्काना टीवी की रिपोर्टर ग्रेटा बेकाग्लिया स्‍टेडियम के बाहर से लाइव रिपोर्टिंग कर रही थीं, तभी एक फुटबॉल फैन ने आकर उनके साथ बदतमीजी कर दी. इसके बाद से इस मामले पर लोग जबरदस्‍त तरीके से भड़के हुए हैं और इस घटना के खिलाफ खासी नाराजगी जता रहे हैं. 

महिलाओं के खिलाफ हिंसा रोकने पर था इवेंट

चौंकाने वाली बात ये भी है कि स्‍टेडियम में जो स्‍पोर्ट्स इवेंट रखा गया था, उसका मकसद महिलाओं के खिलाफ हिंसा को रोकने के लिए लोगों में जागरुकता फैलाना था. लेकिन इसी की कवरेज कर रहीं रिपोर्टर के साथ हिंसा की गई. लाइव रिपोर्टिंग के दौरान जब ग्रेटा लोगों से बात कर रहीं थीं, तभी पीछे से 2 फुटबॉल फैन आए और उन्‍होंने पहले तो रिपोर्टर के हाथ पर थूका, इसके बाद उसे एक थप्‍पड़ जड़ दिया. इस घटना से ग्रेटा सकते में आ गईं. 

ये भी पढ़ें: कौन हैं पराग अग्रवाल जो बने ट्विटर के नए CEO? जानिए, क्या है उनकी क्वालिफिकेशन

मामला दर्ज 

इस अचानक हुए हमले के बाद ग्रेटा ने फैन्‍स से चिल्‍लाते हुए कहा, 'सॉरी, आप मेरे साथ ऐसा नहीं कर सकते हैं.' जबकि टोस्काना टीवी के न्यूजकास्टर और कार्यक्रम के को-होस्‍ट जियोर्जियो मिशेलेटी ने उन्‍हें नाराज न होने और परेशान न होने की सलाह दी. हालांकि गुस्‍साई ग्रेटा ने दोनों आरोपियों के खिलाफ शिकायत दर्ज करा दी है. इसे लेकर स्‍थानीय पुलिस ने कहा है कि हमने आरोपियों को पहचान लिया है. वहीं Toscana TV ने कहा है कि वह इस मामले में आने वाले कानूनी खर्च को वहन करने के लिए तैयार हैं. 

वहीं टस्‍कनी के पत्रकारों ने इस घटना को उत्‍पीड़न का गंभीर मामला बताया है. वहीं ग्रेटा ने कहा है, 'मेरे साथ जो हुआ वह अस्वीकार्य है और ऐसे दोबारा नहीं होना चाहिए. इसे टीवी पर लाइव देखा गया क्योंकि मैं अपना काम कर रही थी. लेकिन दुर्भाग्य से अन्‍य महिलाओं के साथ होने वाली ऐसी घटनाओं के बारे में हमेशा सभी को पता नहीं चल पाता है. जबकि ऐसा नहीं होना चाहिए. उत्‍पीड़न का हर मामला सामने आना चाहिए और उस पर कार्रवाई होनी चाहिए.' 

Trending news