पूर्व राष्ट्रपति जरदारी व बिलावल भुट्टो एनएबी के सामने हुए पेश, परवेज मुशर्रफ को बताया- तानाशाह

एनएबी ने कंपनी और अधिकारियों के खिलाफ तहकीकात शुरू कर दी है.

पूर्व राष्ट्रपति जरदारी व बिलावल भुट्टो एनएबी के सामने हुए पेश, परवेज मुशर्रफ को बताया- तानाशाह
.(फाइल फोटो)

इस्लामाबाद: पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति आसिफ अली ज़रदारी और उनके बेटे बिलावल भुट्टो ज़रदारी भ्रष्टाचार के मामले में बुधवार को भ्रष्टाचार-रोधी संस्था के सामने पेश हुए और अपने बयान दर्ज कराए. डॉन न्यूज ने खबर दी है कि आसिफ और बिलावल कराची की रियल स्टेट कंपनी पार्क लेन स्टेट द्वारा कथित कर्ज लेने से संबंधित एक मामले में राष्ट्रीय जवाबदेही ब्यूरो (एनएबी) के सामने पेश हुए. इस कंपनी में आसिफ और बिलावल सह मालिक हैं. एनएबी ने दावा किया है कि पंजाब वन विभाग से संबंधित जमीन को कुछ सरकारी अफसरों ने गैर कानूनी तरीके से कंपनी के नाम स्थानांतरित कर दिया था.

एनएबी ने कंपनी और अधिकारियों के खिलाफ तहकीकात शुरू कर दी है. पाकिस्तान पीपल्स पार्टी (पीपीपी) के अध्यक्ष बिलावल ने बाद में कार्यकर्ताओं और मीडिया से कहा कि एनएबी के ‘काले कानून’ में संशोधन नहीं करना पीपीपी की ‘कमजोरी’ और ‘गलती’ है. बहरहाल, उन्होंने ‘काले कानून’ के बारे में विस्तार से नहीं बताया.

पूर्व सैन्य तानाशाह परवेज मुशर्रफ का हवाला देते हुए बिलावल ने कहा, ‘‘ एक तानाशाह की ओर से लाए गए काले कानून में हम बदलाव नहीं कर पाए यह हमारी गलती है. हमारी कमजोरी है.’’