Breaking News
  • रिया और शाविक की जमानत याचिका पर सुनवाई 29 सितंबर तक टली

अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने फैलाई कोरोना पर गलत जानकारी? Facebook ने लिया एक्शन

कोरोना वायरस (CoronaVirus) को लेकर गलत जानकारी फैलाने के चलते फेसबुक (Facebook) ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) पर कार्रवाई की है.

अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने फैलाई कोरोना पर गलत जानकारी? Facebook ने लिया एक्शन
डोनाल्ड ट्रंप (फाइल फोटो)

वॉशिंगटन: कोरोना वायरस (Coronavirus) को लेकर गलत जानकारी फैलाने के चलते फेसबुक (Facebook) ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) पर कार्रवाई की है. फेसबुक ने ट्रंप के उस वीडियो को हटा दिया है, जिसमें उन्होंने कहा था कि बच्चे कोरोना वायरस से लगभग इम्यून हैं. 

फेसबुक का कहना है कि ट्रंप का यह दावा उसकी नीतियों का उल्लंघन करता है और COVID के बारे में गलत जानकारी फैलता है, इसलिए उनके वीडियो को हटा दिया गया है. यह पहली बार है जब सोशल मीडिया कंपनी ने अमेरिकी राष्ट्रपति के पेज से किसी वीडियो को ‘गलत और खतरनाक जानकारी’ वाला बताते हुए हटाया है.

ये भी पढ़ें: वुहान में कोरोना से ठीक हुए 90% मरीजों के फेफड़े खराब, अधिकांश इस बीमारी से हुए ग्रसित

गौरतलब है कि ट्रंप के खिलाफ कार्रवाई न करने को लेकर फेसबुक के संस्थापक मार्क जुकरबर्ग को काफी आलोचना का सामना करना पड़ा था. यहां तक कि उनकी कंपनी के कर्मचारियों ने भी दोहरी नीति के लिए उन्हें निशाना बनाया था. शायद इसीलिए अब वह एक्शन में आ गए हैं. 

बच्चों को इम्यून बताने को लेकर ट्रंप घिर गए हैं. व्हाइट हाउस की प्रेस वार्ता के दौरान उनसे यह सवाल पूछा गया. हालांकि यह बात अलग है कि उन्होंने हर बार की तरह सीधा जवाब नहीं दिया. ट्रंप ने कहा ‘मैंने बच्चों के बहुत बीमार होने के विषय में ऐसा कहा था. यदि आप बच्चों को देखें तो वे जल्द बीमार नहीं होते’.  

राष्ट्रपति ट्रंप ने यह बयान तब दिया है जब अमेरिकी स्वास्थ्य अधिकारी सभी आयुवर्ग के लोगों से सावधान रहने की अपील कर रहे हैं. उनका कहना है कि वायरस का जोखिम सभी को है, इसलिए सुरक्षात्मक उपायों का कड़ाई से पालन किया जाना चाहिए. 

वैसे, ये पहला मौका नहीं है जब राष्ट्रपति ट्रंप ने स्वास्थ्य अधिकारियों या विशेषज्ञों से इतर बयान दिया है. वह पिछले काफी समय से यही करते आ रहे हैं. हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन को लेकर उनका रुख विशेषज्ञों से अलग रखा है. पिछले महीने उन्होंने मलेरिया रोधी दवा हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन को पुन: कोरोना वायरस संक्रमण की प्रभावी दवा बताया था. इस दौरान उन्होंने अपने देश के अग्रणी संक्रामक रोग विशेषज्ञ डॉ. एंथनी फौसी की विश्वसनीयता को भी चुनौती दी थी. दरअसल, कई अध्ययनों से निष्कर्ष निकला है कि हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन Covid 19 का प्रभावी उपचार नहीं है. यूएस फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन (एफडीए) ने भी कोरोना के आपात उपचार में इस दवा के इस्तेमाल का फैसला पलट दिया था, लेकिन ट्रंप कुछ सुनने को तैयार नहीं हैं.

मालूम हो कि हाल ही में ट्विटर ने भी हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन को लेकर ट्रंप के बेटे पर कार्रवाई की थी. सोशल मीडिया कंपनी ने जूनियर ट्रंप के ट्वीट को हटाते हुए कुछ घंटों के लिए उनके अकाउंट को सीमित कर दिया था.     

LIVE TV