close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

ग्लोबल वॉर्मिंग के कारण गरीबी से लड़ाई पड़ सकती है कमजोर: विश्व बैंक

विश्व बैंक ने एक रिपोर्ट के जरिए चेतावनी देते हुए कहा है कि जलवायु परिवर्तन विश्व भर में गरीबी को हराने के लिए किए जा रहे प्रयासों को कमजोर कर सकता है।

वाशिंगटन : विश्व बैंक ने एक रिपोर्ट के जरिए चेतावनी देते हुए कहा है कि जलवायु परिवर्तन विश्व भर में गरीबी को हराने के लिए किए जा रहे प्रयासों को कमजोर कर सकता है।

ग्लोबल वॉर्मिंग के प्रभाव पर आई इस नयी रिपोर्ट में बैंक ने कहा कि तापमान में तेज वृद्धि के कारण कई इलाकों में फसलों के उत्पादन और जल आपूर्ति में भारी कमी आएगी और यह संभवत: लोगों को गरीबी के चक्र से मुक्त कराने के लिए किए जा रहे प्रयासों को कमजोर करेगा।

रिपोर्ट में कहा गया, जलवायु परिवर्तन विकास प्रगति के समक्ष एक प्रबल और तीव्र खतरा पेश करता है। यह गरीबी मिटाने और साझी समृद्धि को प्रोत्साहित करने के लिए किए जा रहे प्रयासों को कमजोर कर सकता है। यदि कोई मजबूत और त्वरित कार्रवाई नहीं की जाती है तो तापमान में डेढ़ से दो डिग्री सेल्सियस की वृद्धि हो सकती है। इसके परिणामों से दुनिया भर के विभिन्न क्षेत्रों में गरीबी के और भी बुरे प्रभाव हो सकते हैं।

बैंक ने कहा कि पहले ही औसत तापमान में औद्योगिकरण के पहले के स्तर से 1.5 डिग्री सेल्सियस की वृद्धि की आशंका है। इसकी वजह बीते समय और मौजूदा समय में ग्रीन हाउस गैसों का उत्सर्जन है। इसका अर्थ यह है कि अत्यधिक गर्मी, समुद्र के जलस्तर में वृद्धि और चक्रवातों के जल्दी जल्दी आने का खतरा बढ़ेगा।