एक ही पार्टी का राष्ट्रपति और मंत्रिमंडल होने से शासन में होगा सुधार: महिंदा राजपक्षे

श्रीलंका (Shri Lanka) के पूर्व राष्ट्रपति महिंदा राजपक्षे (Mahinda Rajapaksa) ने अपने भाई, गोटाबाया राजपक्षे की राष्ट्रपति चुनाव में जीत के बाद संसदीय चुनाव समय से पूर्व कराने की मांग की है. 

एक ही पार्टी का राष्ट्रपति और मंत्रिमंडल होने से शासन में होगा सुधार: महिंदा राजपक्षे
फाइल फोटो

कोलंबो: श्रीलंका (Shri Lanka) के पूर्व राष्ट्रपति महिंदा राजपक्षे (Mahinda Rajapaksa) ने अपने भाई, गोटाबाया राजपक्षे की राष्ट्रपति चुनाव में जीत के बाद संसदीय चुनाव समय से पूर्व कराने की मांग की है. उन्होंने जोर देकर कहा कि एक पार्टी का राष्ट्रपति और मंत्रिमंडल होने से शासन में सुधार आएगा.

डेली फाइनेंशियल टाइम्स के अनुसार, सोमवार को अपने 74वें जन्मदिन पर आयोजित एक धार्मिक समारोह के बाद मीडिया को संबोधित करते हुए, संसद में विपक्ष के नेता ने कहा कि यह एक ऐसी सरकार के लिए अधिक प्रभावी होगा, जहां राष्ट्रपति और मंत्रिमंडल भविष्य में एक ही पार्टी से होंगे.

LIVE TV...

पूर्व राष्ट्रपति ने कहा, "मुझे लगता है कि अगर हम आम चुनाव कराए तो बेहतर है. कई कैबिनेट सदस्य पहले ही पद छोड़ चुके हैं. मुझे लगता है कि सरकार के लिए यह अधिक प्रभावी होगा, जहां राष्ट्रपति और मंत्रिमंडल एक ही पार्टी के हों." उन्होंने कहा कि मतपेटी में जनता के निर्णय का सम्मान करने की आवश्यकता है. गोटाबाया राजपक्षे (Gotabaya Rajapaksha) 16 नवंबर का चुनाव जीतने के बाद श्रीलंका के नए राष्ट्रपति चुने गए.