close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

ग्वाटेमालाः संयुक्त राष्ट्र समर्थित भ्रष्टाचार जांचकर्ता को देश में नहीं दिया गया प्रवेश

ग्वाटेमाला के अधिकारियों ने रविवार को राजधानी के हवाई अड्डे पर जांच आयोग के एक सदस्य को अड्डे पर ही रोक कर रखा और उन्हें देश में प्रवेश करने से मना कर दिया

ग्वाटेमालाः संयुक्त राष्ट्र समर्थित भ्रष्टाचार जांचकर्ता को देश में नहीं दिया गया प्रवेश
फाइल फोटो

ग्वाटेमाला सिटीः ग्वाटेमाला सरकार और संयुक्त राष्ट्र समर्थित भ्रष्टाचार निरोधक आयोग के बीच पिछले कई दिनों से तनाव की स्थिति बनी हुई है. बढ़ते तनाव के बीच ग्वाटेमाला के अधिकारियों ने रविवार को राजधानी के हवाई अड्डे पर जांच आयोग के एक सदस्य को अड्डे पर ही रोक कर रखा और उन्हें देश में प्रवेश करने से मना कर दिया. ग्वाटेमाला के आव्रजन अधिकारियों ने कोलंबियाई नागरिक यीलेन ओसोरियो को शनिवार दोपहर हवाईअड्डे पर पहुंचने पर अपनी हिरासत में ले लिया. 

जी 20 : UN के आतंकरोधी ढांचे को मजबूत बनाने के लिए काम करने की जरूरत: पीएम मोदी

बताया जा रहा है कि यह कदम अदालत के उस आदेश के बावजूद उठाया गया है जिसमें अदालत ने सरकार को आदेश दिया था कि सीआईसीआईजी नामक आयोग के सदस्यों को वीजा और प्रवेश दिया जाए. जिस आयोग के सदस्य को देश में प्रवेश करने से मना कर दिया गया है इसी आयोग ने ग्वाटेमाला की सरकार के शीर्ष सदस्यों के साथ ही राष्ट्रपति जिमी मोराल्स के बेटे और उनके भाई की भ्रष्टाचार में संलिप्तता की भी जांच की है. हालांकि जिमी के बेटे और उनके भाई ने भ्रष्टाचार के सभी आरोपों से इनकार किया है.

कश्‍मीर मुद्दा: नहीं सुधर रहा पाकिस्‍तान, अब इमरान खान ने किया ये काम

ग्वाटेमाला के अटॉर्नी जनरल ने ओसोरियो की सुरक्षा के लिए 30 से अधिक प्रतिनिधियों और सुरक्षा कर्मियों को हवाई अड्डे पर भेजा. इस बीच, नागरिक समूहों ने हवाई अड्डे के बाहर उनको हिरासत में लिए जाने के फैसले का विरोध किया. हवाई अड्डे पर 100 से अधिक पुलिस कर्मी मौजूद थे. हालांकि, इस गतिरोध पर अभी तक राष्ट्रपति कार्यालय की तरफ से कोई बयान जारी नहीं किया गया है.