परमाणु प्लांट के नेटवर्क में सेंध लगा सकते है हैकर्स, अमेरिका अधिकारियों और एफ़बीआई ने किया आगाह

एजेंसी ने कहा कि हैकर्स परमाणु सुविधाओं के व्यापारिक और प्रशासनिक नेटवर्क को भेदने की कोशिश में लगे हुए हैं. हालांकि डीएचएस ने इन केंद्रों की पहचान नहीं की है.

परमाणु प्लांट के नेटवर्क में सेंध लगा सकते है हैकर्स, अमेरिका अधिकारियों और एफ़बीआई ने किया आगाह
रॉयटर्स और न्यूयॉर्क टाइम्स ने पिछली रिपोर्टो में सरकार को इन हैकिंग प्रयासों के बारे में सचेत किया था. (फाइल फोटो)

वॉशिंगटन: गृह सुरक्षा विभाग और एफबीआई ने परमाणु और अन्य ऊर्जा प्रदाताओं को आगाह किया है कि हैकर्स उनके कंप्यूटर सिस्टम की सुरक्षा में सेंध लगाने की कोशिश कर सकते हैं. डीएचएस ने शुक्रवार (7 जुलाई) को एक बयान में कहा कि जन सुरक्षा को लेकर कोई खतरा नहीं है. एजेंसी ने कहा कि हैकर्स परमाणु सुविधाओं के व्यापारिक और प्रशासनिक नेटवर्क को भेदने की कोशिश में लगे हुए हैं. हालांकि डीएचएस ने इन केंद्रों की पहचान नहीं की है.

डीएचएस और एफबीआई नियमित रूप से इन संभावित साइबर खतरों को लेकर आगाह करते रहते हैं. यह बयान ऐसे समय में आया है जब कई समाचार रिपोर्टों में इस बात की आशंका जताई गयी थी कि हैकर्स अब परमाणु और विद्युत ऊर्जा संयंत्रों को निशाना बना सकते हैं. रॉयटर्स और न्यूयॉर्क टाइम्स ने पिछली रिपोर्टो में सरकार को इन हैकिंग प्रयासों के बारे में सचेत किया था.

परमाणु ऊर्जा संस्थान ने पिछले हफ्ते कहा था कि कोई भी परमाणु रिएक्टर प्रभावित नहीं हुआ है.