कराची में हिंदू दंपति का अपहरण, किडनैपिंग के खिलाफ हिंदुओं का सड़क पर प्रदर्शन

राजा रोहताश नाम का शख्स कराची महानगर निगम में एक सफाई कर्मचारी है जो एक दबंग महिला के घर पर काम करता था.

कराची में हिंदू दंपति का अपहरण, किडनैपिंग के खिलाफ हिंदुओं का सड़क पर प्रदर्शन
फाइल फोटो

कराची: पाकिस्तान (Pakistan) में अल्पसंख्यक समुदाय पर अत्याचार की घटनाएं आए दिन होती रहती हैं. पाकिस्तान से हिंदू व सिक्ख लड़कियों का अपहरण करके जबरन निकाह करवाया जाता है. अब पाकिस्तान के कराची में एक हिंदू दंपति का अपहरण कर लिया गया है. बुधवार को इसके खिलाफ स्थानीय हिंदुओं ने बड़ी संख्या में इकट्ठा होकर प्रदर्शन किया.

बता दें कि कराची में एक हिंदू दंपति 3 दिनों से लापता है. इसके विरोध में बुधवार को कराची में बड़ी संख्या में हिंदू समुदाय के लोग इकट्ठा हुए और उन्होंने अल्पसंख्यक समुदाय पर हो रहे अत्याचारों के खिलाफ आवाज उठाई. हिंदू समुदाय के लोगों का कहना है कि आरोप लगाया कि दबंग महिला ने हिंदू समुदाय से संबंध रखने वाले दोनों पति-पत्नी का अपहरण करवा दिया है. किडनैप हुए दंपति को कराची से नवाबशाह ले जाया गया है.

दरअसल राजा रोहताश नाम का शख्स कराची महानगर निगम में एक सफाई कर्मचारी है जो इस दबंग महिला के घर पर काम करता था. दबंग महिला ने पहले राजा रोहताश पर कीमती सामान चुराने का आरोप लगाया और फिर उसकी जमकर पिटाई की. जब रोहताश की पत्नी पोपल दारो उसे बचाने के लिए पहुंची तो दबंग महिला ने उसे भी बुरी तरह पीटा.

ये भी पढ़ें- हाथ मिलाना बंद, कोरोना के डर से ट्रंप ने आयरलैंड के पीएम को किया 'नमस्ते'

गौरतलब है कि पाकिस्तान में नवंबर 2019 से लेकर जनवरी 2020 तक केवल 3 महीनों के दौरान करीब 50 हिंदू और सिक्ख लड़कियों के जबरन धर्म परिवर्तन की घटनाएं सामने आईं. इनमें से ज्यादातर मामलों में सरकार, स्थानीय प्रशासन या पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की.

खास बात यह है कि इस ताजा घटनाक्रम में सुर्खियां बटोरने के लिए पाकिस्तान की इमरान खान सरकार के नेता भी इस घटना पर अपनी संवेदना व्यक्त कर रहे हैं. हिंदू समुदाय के विरोध प्रदर्शन में इमराना खान की पार्टी पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (PTI) के सांसद शहजाद कुरैशी और राजा अजहर खान सहित अन्य राजनीतिक नेताओं ने भी हिस्सा लिया.

ये भी पढ़ें- राहत की बात: कोरोना वायरस के तैयार हो चुकी है वैक्सीन, इस देश ने किया दावा

हिंदू समुदाय का कहना है कि राजा रोहताश को शुरुआत के 2 दिन बंगले में ही रखा गया और उसे वहां बहुत प्रताड़ित किया गया. ये भी हो सकता है रोहताश और उसकी पत्नी रक झूठे मामले दर्ज किए गए हों. मगर उनके परिजनों को दंपति के ठिकाने के बारे में नहीं बताया जा रहा है.

LIVE TV