VIDEO: 85 साल पुराना स्‍कूल अपने पैरों पर चलकर दूसरी जगह हुआ 'शिफ्ट'

चीन ने एक इमारत (building) को खिसका दिया है, जी हां, यह सच है. यहां की स्‍टेट ब्रॉडकास्‍टर CCTV के अनुसार, चीन ने हाल ही में एक ऐतिहासिक इमारत को हटाकर शंघाई (Shanghai) में एक नई जगह पर पहुंचा दिया.

VIDEO: 85 साल पुराना स्‍कूल अपने पैरों पर चलकर दूसरी जगह हुआ 'शिफ्ट'
चीन की ऐतिहासिक इमारत जिसे चलाकर नई जगह ले जाया गया (रायटर्स)

नई दिल्‍ली: चीन ने एक इमारत (building) को खिसका दिया है, जी हां, यह सच है. यहां की स्‍टेट ब्रॉडकास्‍टर CCTV के अनुसार, चीन ने हाल ही में एक ऐतिहासिक इमारत को हटाकर शंघाई (Shanghai) में एक नई जगह पर पहुंचा दिया. इस इमारत का वजन 7,600 टन है. यहां के तकनीशियनों ने इमारत को 61.7 मीटर (202.4 फीट) तक 'चलाया'. इसके लिए उन्‍होंने इमारत में विशेष प्रकार के रोबोटिक पैर लगाए.

1935 में बनी थी ये इमारत 
इस इमारत का मूल नाम लागेना प्राइमरी स्कूल (Lagena Primary School) है और इसे 1935 में निर्मित किया गया था. बाद में, 2018 तक इस इमारत का इस्‍तेमाल एक मिडिल स्‍कूल के तौर पर किया गया. इस इमारत के पास में एक नया निर्माण हो रहा था, ऐसे में इस इमारत को ध्‍वस्‍त करना पड़ता. चूंकि तकनीशियन इस ऐतिहासिक इमारत को नुकसान नहीं पहुंचाना चाहते थे इसलिए उन्‍होंने इस इमारत को वहां से हटाकर किसी अन्‍य जगह पर ले जाने का फैसला किया. इसके लिए उन्‍होंने वाकई उसे पैरों पर चलवाया.

ऐसे चली 5 मंजिला इमारत 
एक कंस्‍ट्रक्‍शन कंपनी के तकनीशियनों ने इमारत में 198 रोबोट डिवाइस फिट किए जो इमारत के पैरों की तरह दिख रहे हैं. इसके बाद इस इमारत को चलाकर अन्‍य जगह ले जाया गया. यह इमारत 5 मंजिला ऊंची है और अब अपनी नई जगह पर है. इसे 15 अक्टूबर को इस जगह पर पहुंचाया गया था. 

चीन के सीसीटीवी के अनुसार, इमारत के नई जगह पर पहुंचने के बाद उसे रिनोवेट किया जा रहा है, ताकि उसे ऐतिहासिक तौर पर संरक्षित किया जा सके. 

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.