close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

लाओस में बांध टूटने से हुए हादसे में लापता लोगों की तलाश का अभियान जारी

लाओस के सुदूर दक्षिणी क्षेत्र में बांध टूटने से हुए हादसे के बाद राहतकर्मी लापता लोगों की तलाश में जुटे है. राहतकर्मियों को कीचड़ और बाढ़ के पानी से लोगों की तलाश करने में काफी मशक्कत करनी पड़ रही है.

लाओस में बांध टूटने से हुए हादसे में लापता लोगों की तलाश का अभियान जारी
एक अधिकारी का कहना है कि 1,100 से अधिक लोग लापता हो सकते हैं. (फाइल फोटो)

अतापियू (लाओस): लाओस के सुदूर दक्षिणी क्षेत्र में बांध टूटने से हुए हादसे के बाद राहतकर्मी लापता लोगों की तलाश में जुटे है. राहतकर्मियों को कीचड़ और बाढ़ के पानी से लोगों की तलाश करने में काफी मशक्कत करनी पड़ रही है. एक अधिकारी का कहना है कि 1,100 से अधिक लोग लापता हो सकते हैं.  सोमवार को हुए इस हादसे में मारे गये और लापता लोगों की वास्तविक संख्या अब भी एक रहस्य बनी हुई है. लाओस की कम्युनिस्ट पार्टी की अतापियू प्रांतीय समिति की उपसचिव मिनापोर्न चेइचोमपू ने शुक्रवार को बताया, ‘‘बचाव अभियान बहुत जटिल है, कई क्षेत्रों में कार या नौका से नहीं पहुंचा जा सकता है.  इसके अलावा हमारे पास क्षेत्र में लाने के लिए सीमित आधुनिक उपकरण हैं. ’’ उन्होंने बताया कि बांध टूटने के पांच दिनों बाद सैंकड़ों लोग अब भी लापता हैं.

Lao villagers are stranded on a roof of a house after they evacuated floodwaters after the Xe Pian Xe Nam Noy dam collapsed.

उन्होंने कहा,‘‘हम 1,126 लोगों को नहीं खोज सके हैं. ’’ उन्होंने बताया कि 131 लोगों के लापता होने की उनके रिश्तेदारों ने पुष्टि की है. शुरूआत में अधिकारियों ने 27 लोगों की मौत होने की पुष्टि की थी लेकिन मिनापोर्न ने बिना कोई स्पष्टीकरण दिये इस संख्या को घटाकर छह बताया है.  सैसोमफू के अनुसार एक शव रविवार को पाया गया, और इसके साथ मृतकों की संख्या नौ हो गई. मिनाफोने ने कहा कि गांव के नेताओं और ग्रामीणों से मिली रपटों के अनुसार 131 लोग लापता हैं.

रविवार तक इस इलाके को लाओस और अन्य देशों से लगभग 400,000 डॉलर की धनराशि और राहत सामग्री प्राप्त हो चुकी थी. दक्षिण कोरियाई, थाई और लाओ की कंपनियों के एक संयुक्त उद्यम, शी पियान-शी नामनोय पॉवर कंपनी द्वारा निर्मित इस जलविद्युत परियोजना पर लगभग 1.02 अरब डॉलर की लागत आई थी. 

इनपुट भाषा से भी