close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

अगर ग्रीनहाउस गैस पर नहीं लगी लगाम, तो 20 साल में आर्कटिक से बर्फ हो सकता है गायब

एक ताजा अध्ययन में के अनुसार मानव जनित ग्लोबल वार्मिंग के अलावा कई अन्य कारणों से आर्कटिक से बर्फ लगभग खत्म हो सकता है. 

अगर ग्रीनहाउस गैस पर नहीं लगी लगाम, तो 20 साल में आर्कटिक से बर्फ हो सकता है गायब
‘‘जियोफिजिकल रिसर्च लेटर्स’’ में छपी रिपोर्ट में यह दावा किया गया है. (फाइल फोटो)

लंदन: एक ताजा अध्ययन में आगाह किया गया है कि धरती पर ग्रीनहाउस गैस उत्सर्जन अगर बहुत कम नहीं हो जाता तो अगले 20 वर्षों के भीतर ही आर्कटिक महासागर ग्रीष्मकाल में बर्फ मुक्त हो सकता है. 

कंप्यूटर मॉडलों के माध्यम से जलवायु परिवर्तन को लेकर लगाये गये अनुमान के मुताबिक मानव जनित ग्लोबल वार्मिंग के अलावा, उष्णकटिबंधीय प्रशांत क्षेत्र में प्राकृतिक रूप से दीर्घकालिक वार्मिंग अवधि के कारण इस सदी के मध्य तक गर्मी के दिनों में आर्कटिक से बर्फ लगभग खत्म हो सकता है. 

‘‘जियोफिजिकल रिसर्च लेटर्स’’ नामक पत्रिका में प्रकाशित शोध के अनुसार, उष्णकटिबंधीय प्रशांत क्षेत्रों में लंबे समय तक के तापमान-चक्र का करीबी अध्ययन से इस बात के संकेत मिलते हैं कि सितम्बर महीने में आर्कटिक महासागर से बर्फ लगभग खत्म हो सकती है. इस महीने में वहां सबसे कम बर्फ होती है.

ब्रिटेन में ‘‘यूनिवर्सिटी ऑफ एक्सेटर’’ के एक एसोसिएट प्रोफेसर जेम्स स्क्रीन ने कहा कि गर्मियों में आर्कटिक महासागर के बर्फ मुक्त होने का आकलन है लेकिन अब भी यह अनिश्चितता बरकरार है कि आखिर यह कब होने वाला है.

(इनपुट भाषा से)