close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

सादे समारोह में शपथ लेंगे इमरान खान, पीएम मोदी समेत विदेशी नेताओं को ना बुलाने का फैसला : रिपोर्ट

डॉन अखबार के मुताबिक, रुख बदलते हुए खान ने सादे समारोह में शपथ लेने का फैसला किया है. 

सादे समारोह में शपथ लेंगे इमरान खान, पीएम मोदी समेत विदेशी नेताओं को ना बुलाने का फैसला : रिपोर्ट
इमरान खान (फाइल फोटो)
Play

इस्लामाबाद : इमरान खान सादे समारोह में पाकिस्तान के नए प्रधानमंत्री के तौर पर शपथ लेना चाहते हैं और वह विदेशी नेताओं तथा मशहूर हस्तियों को इसमें बुलाए जाने के पक्षधर नहीं हैं. खान की पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) पार्टी 25 जुलाई को हुए चुनावों में सबसे बड़े दल के तौर पर उभरी है. 65 वर्षीय नेता के 11 अगस्त को शपथ ग्रहण करने की संभावना है.

उनकी पार्टी ने पहले शपथ ग्रहण समारोह के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, बॉलीवुड सुपरस्टार आमिर खान और कपिल देव, सुनील गावस्कर तथा नवजोत सिंह सिद्धू जैसे भारतीय क्रिकेटरों को आमंत्रित करने की योजना बनाई थी.

डॉन अखबार के मुताबिक, आज इस पर रुख बदलते हुए खान ने सादे समारोह में शपथ लेने का फैसला किया है. डॉन ने पीटीआई प्रवक्ता फवाद चौधरी के हवाले से कहा, ‘‘पीटीआई चेयरमैन ने सादगी से शपथ ग्रहण समारोह आयोजित करने का निर्देश दिया है. वह ऐवान-ए-सदर (राष्ट्रपति आवास) में सादे समारोह में शपथ लेंगे.’’ 

ये भी पढ़ें- Godrej ने इमरान खान से ही क्‍यों कराया Cinthol साबुन का विज्ञापन? जानिए वजह

उन्होंने कहा, ‘‘यह फैसला किया गया है कि समारोह में किसी भी विदेशी गणमान्य व्यक्ति को आमंत्रित नहीं किया जाएगा. यह पूरी तरह से राष्ट्रीय समारोह होगा. केवल इमरान खान के कुछ करीबी दोस्तों को आमंत्रित किया जाएगा. समारोह में फिजूलखर्ची नहीं की जाएगी.’’ 

बहरहाल, उन्होंने बताया कि कार्यक्रम में इमरान के कुछ विदेशी दोस्तों को आमंत्रित किया जाएगा. चौधरी ने कहा, ‘‘इमरान के कुछ विदेशी दोस्त ही हैं जिन्हें समारोह में आमंत्रित किया जा रहा है.’’ राष्ट्रपति ममनून हुसैन खान को पद की शपथ दिलाएंगे.

ये भी पढ़ें- नवजोत सिंह सिद्धू को मिला इमरान खान के शपथ ग्रहण में शामिल होने का निमंत्रण, बोले- 'स्वीकार है'

चुनावों में पीटीआई की जीत के बाद खान ने करदाताओं का पैसा बचाने के लिए सख्त कदम उठाने का इरादा जताया है. उन्होंने घोषणा की कि वह प्रधानमंत्री आवास में रहने नहीं जाएंगे और इमारत के भविष्य के बारे में अंतिम फैसला पार्टी करेगी.