close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

मिस्र: पिरामिड के लिए मशहूर इस देश में फिर से हुई नयी खोज ,पुरातत्वविदों ने 'विशाल' प्राचीन इमारत खोजा

पुरातत्वविदों को खोज में इस विशाल इमारत में एक बड़ा रोमन स्नानागार और धार्मिक अनुष्ठानों के लिए एक विशाल कक्ष जैसे आकार का स्थान भी मिला है.

मिस्र: पिरामिड के लिए मशहूर इस देश में फिर से हुई नयी खोज ,पुरातत्वविदों ने 'विशाल' प्राचीन इमारत  खोजा
फाइल फोटो

काहिरा: पूरी दुनिया में पिरामिडों के लिए मशहूर मिस्र में पुरातत्वविदों ने राजधानी काहिरा से 20 किलोमीटर दक्षिण में मिट रिहाना शहर में एक ‘विशाल’ प्राचीन इमारत की खोज की है. मिस्त्र के एंटीक्युटिज मंत्रालय ने मंगलवार(26 सितंबर) को बताया कि पुरातत्वविदों को खोज में इस विशाल इमारत में एक बड़ा रोमन स्नानागार और धार्मिक अनुष्ठानों के लिए एक विशाल कक्ष जैसे आकार का स्थान भी मिला है. 

सुप्रीम काउंसिल ऑफ एंटीक्युटिज के महासचिव मोस्तफा वजीरी ने कहा कि इस प्राचीन विशाल इमारत क्षेत्र के आवासीय ब्लॉक का हिस्सा लगती है, जो पहले मिस्र की राजधानी मेम्फिस था. माना जा रहा हैं की इस तरह की खोज से यहां पर्यटन को काफी बढ़ावा मिलेगा. वैसे भी पूरी दुनिया में अपने प्राचीन धरोहरों के लिए विख्यात इस देश में ज्यादातर लोग इन पिरामिडों और प्राचीन इमारतों को देखने के लिए आते हैं. 2011 में राजनीतिक अस्थिरता के कारण मिस्र में पर्यटन क्षेत्र बुरी तरह प्रभावित हुआ था.

अफ्रीका महाद्वीप में आने वाला यह देश पूरी दुनिया के पर्यटकों को अपने पिरामिड की वजह से आकर्षित करता हैं. माना जाता है की विश्व के 7 आश्चर्य में शामिल यहां के पिरामिड का निर्माण 6वीं से 4थीं ईसा पूर्व हुआ था. मिस्त्र की प्राचीन सभ्यता पूरी दुनिया में मशहूर रही है. 

2011 में हुस्नी मुबारक सरकार खिलाफ हुए प्रदर्शन के बाद मिस्त्र में फिलहाल राजनितिक अस्थिरता का दौर चल रहा है. जिसकी वजह से विदेशी पर्यटकों की संख्या में कमी आई है. पर्यटन मिस्त्र के आमदनी का सबसे बड़ा जरिया है.