PAK अधिकारियों ने कहा, 'पाकिस्तान में धुंध के पीछे भारतीय किसान'

विशेषज्ञ ने कहा कि प्रांतीय राजधानी लाहौर में कुल वायु गुणवत्ता सूचकांक 357 है, जबकि अधिकतम सीमा 100 के आसपास है और आने वाले दिनों में इसके उच्चतम स्तर 500 पर पहुंचने की आशंका है.

PAK अधिकारियों ने कहा, 'पाकिस्तान में धुंध के पीछे भारतीय किसान'
पाकिस्तान के पंजाब प्रांत के अधिकारियों ने कहा कि धुंध के कारण पंजाब के विभिन्न निवासियों को कई प्रकार के रोग हो रहे हैं. (FILE-फोटो साभार - डीएनए)

इस्लामाबाद : पाकिस्तानी अधिकारियों ने कहा है कि भारतीय किसानों द्वारा पराली जलाने से पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में गहरे व घने धुंध के बादल छाते हैं. समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक, पंजाब प्रांत के पर्यावरण संरक्षण विभाग के अधिकारी ने शनिवार रात बताया कि इस धुंध के कारण पंजाब के विभिन्न निवासियों को कई प्रकार के रोग हो रहे हैं और प्रांतीय सरकार इस स्थिति को नियंत्रण में लाने के लिए कदम उठा रही है. 

पर्यावरण संरक्षण विभाग की मंत्री जाकिया शाह नवाज खान ने कहा कि धुंध हमारे प्रांत में दो हफ्ते से आ रही है और आने वाले हफ्ते में भी इसके बने रहने की आशंका है. उन्होंने कहा कि भारतीय खेतों से पराली का धुआं सात से आठ किलोमीटर प्रति घंटे की गति से पंजाब तक पहुंच चुका है, जिसके परिणामस्वरूप प्रांत में घने धुंध के बादल छाए हैं. 

यह भी पढ़ें : पंजाब में पराली जलाने पर काफी हद तक नियंत्रण किया जाएगा : PPCB 

विशेषज्ञ ने कहा कि प्रांतीय राजधानी लाहौर में कुल वायु गुणवत्ता सूचकांक 357 है, जबकि अधिकतम सीमा 100 के आसपास है और आने वाले दिनों में इसके उच्चतम स्तर 500 पर पहुंचने की आशंका है.