Kuwait में अब Indian Workers को मिलेगा कानूनी संरक्षण, दोनों देशों के बीच सहमति पत्र पर हुए हस्ताक्षर

कुवैत में 10 लाख से ज्यादा भारतीय रहते हैं. ऐसे में यह सहमति पत्र उनके लिए काफी फायदेमंद साबित होगा. कानूनी संरक्षण में आने के बाद उनके लिए अपने अधिकारों के लिए लड़ना आसान हो जाएगा और नियोक्ता के लिए उनका हक मारना मुश्किल.

Kuwait में अब Indian Workers को मिलेगा कानूनी संरक्षण, दोनों देशों के बीच सहमति पत्र पर हुए हस्ताक्षर
फोटो: ट्विटर

कुवैत सिटी: कुवैत (Kuwait) में काम करने वाले भारतीय कामगारों के लिए अच्छी खबर है. भारत और कुवैत (India & Kuwait) ने एक सहमति पत्र पर दस्तखत किए हैं, जिसके तहत इस खाड़ी देश में काम करने वाले भारतीयों को कानून के दायरे में लाया जाएगा. इसके अलावा उन्हें कानूनी संरक्षण भी मिलेगा. विदेश मंत्री एस जयशंकर (S Jaishankar) और उनके कुवैती समकक्ष शेख अहमद नासिर अल-मोहम्मद अल-सबा (Ahmad Nasser Al-Mohammad Al-Sabah) की मौजूदगी में गुरुवार को भारतीय राजदूत सिबी जॉर्ज और कुवैत के उप विदेश मंत्री ने इस सहमति पत्र पर हस्ताक्षर किए. 

24 Hours मिलेगी मदद

सहमति पत्र में कहा गया है कि भारतीय घरेलू कामगारों को कानूनी ढांचे के दायरे में लाकर उनकी भर्ती को सुव्यवस्थित करते हुए कानूनी संरक्षण प्रदान किया जाएगा. दोनों मंत्रियों ने सहमति पत्र पर हस्ताक्षर किए जाने का स्वागत किया, जिसके अनुसार, एक तंत्र की स्थापना की जाएगी, जो घरेलू कामगारों को 24 घंटे मदद मुहैया कराएगा. बता दें कि जयशंकर विदेश मंत्री के तौर पर अपनी पहली कुवैत यात्रा पर गुरुवार को आए थे. 

ये भी पढ़ें -Coronavirus: भारत ने नेपाली सेना को 18 करोड़ रुपये मूल्य के चिकित्सा उपकरण दिए

Kuwait में हैं 10 लाख Indians 

कुवैत में 10 लाख से ज्यादा भारतीय रहते हैं. ऐसे में यह सहमति पत्र उनके लिए काफी फायदेमंद साबित होगा. कानूनी संरक्षण में आने के बाद उनके लिए अपने अधिकारों के लिए लड़ना आसान हो जाएगा और नियोक्ता के लिए उनका हक मारना मुश्किल होगा. सहमति पत्र पर हस्ताक्षर के दौरान कुवैत के विदेश मंत्री ने भारत के साथ गहरे संबंधों की सराहना की. 

Bilateral Relations को सराहा

इससे पहले, कुवैत के विदेश मंत्री शेख अहमद नासेर अल-मुहम्मद अल-सबाह और भारतीय विदेश मंत्री एस जयशंकर के बीच मुलाकात हुई. इस दौरान, सबाह ने कहा कि कई क्षेत्रों में द्विपक्षीय संबंधों में जबरदस्त प्रगति हुई है. भारत के साथ अपने देश के गहरे संबंधों की सराहना करते हुए उन्होंने कहा कि ये द्विपक्षीय संबंध हमेशा ही आगे बढ़ते रहे हैं. उन्होंने दोनों देशों के बीच राजनयिक संबंध स्थापित होने के 60 बरस पूरे होने की पृष्ठभूमि में यह बात कही.

‘मुश्किल कार्य को संभव कर दिखाया’

विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कुवैत में चिंतित प्रवासी भारतीयों को आश्वासन दिया कि भारत में COVID-19 की दूसरी लहर कम हो रही है और सरकार ने महामारी को रोकने के लिए मुश्किल दिख रहे कार्य को संभव कर दिखाया. प्रवासी भारतीय समुदाय को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा, ‘कोविड-19 की दूसरी लहर घटने लगी है. मई की शुरुआत की तुलना में अब नए मामलों की दैनिक संख्या कम हो रही है. संक्रमण दर में भी खासी कमी आई आयी है. यह सरकार के व्यापक प्रयासों से संभव हुआ है’.  

 

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.