close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

भारत से यह बड़ा और अहम दर्जा छीनने वाला है अमेरिका, व्‍यापार में झेलना पड़ सकता है भारी नुकसान

अब इस संबंध में किसी भी समय औपचारिक अधिसूचना जारी की जा सकती है.

भारत से यह बड़ा और अहम दर्जा छीनने वाला है अमेरिका, व्‍यापार में झेलना पड़ सकता है भारी नुकसान
अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का फाइल फोटो...

वॉशिंगटन : अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की सरकार ने कहा है कि वह भारत को मिले जीएसपी दर्जे को समाप्त करने के अपने निर्णय से पीछे हटने वाली नहीं है. ट्रंप ने चार मार्च को इस बात की घोषणा की थी कि वह जीएसपी कार्यक्रम से भारत को बाहर करने वाले हैं. इसके बाद 60 दिनों की नोटिस अवधि तीन मई को समाप्त हो गई. अब इस संबंध में किसी भी समय औपचारिक अधिसूचना जारी की जा सकती है.

अमेरिका के एक अधिकारी ने नाम गोपनीय रखने की शर्त पर कहा, ‘‘पिछले एक साल से भारतीय समकक्षों के साथ जारी बातचीत के बाद अंततः मार्च में हमें यह घोषणा करनी पड़ी कि भारत को अब जीएसपी के तहत मिलने वाले लाभ से वंचित रखा जाए.’’ 

लाइव टीवी देखें...

उन्होंने कहा, ‘‘यह निलंबन अब तय है. अब काम यह है कि हम आगे कैसे बढ़ते हैं, आगे की राह तलाशने के लिये हम नरेंद्र मोदी की दूसरी सरकार के साथ किस तरह से काम कर पाते हैं?’’ 

सामान्य तरजीही प्रणाली (जीएसपी) अमेरिका द्वारा अन्य देशों को व्यापार में दी जाने वाली तरजीह की सबसे पुरानी और बड़ी प्रणाली है. इसके तहत दर्जा प्राप्त देशों को हजारों सामान बिना किसी शुल्क के अमेरिका को निर्यात करने की छूट मिलती है.

भारत 2017 में जीएसपी कार्यक्रम का सबसे बड़ा लाभार्थी रहा. वर्ष 2017 में भारत ने इसके तहत अमेरिका को 5.7 अरब डॉलर का निर्यात किया था.

(इनपुट भाषा से)