यूएन की भी नहीं सुनता ईरान, अपील के बावजूद बलोच व्यक्ति को दे दी फांसी

अंतरराष्ट्रीय दबाव और संयुक्त राष्ट्र की अपील के बावजूद ईरान ने एक बलोच व्यक्ति को फांसी की सजा दे दी और उसे सरेआम फांसी पर लटका दिया. उसपर हत्या, अपहरण और आतंकवाद से जुड़े होने का आरोप था. फांसी पर लटकाए गए व्यक्ति का नाम जाविद देहगान कलाद था.

यूएन की भी नहीं सुनता ईरान, अपील के बावजूद बलोच व्यक्ति को दे दी फांसी
फाइल फोटो

तेहरान: अंतरराष्ट्रीय दबाव और संयुक्त राष्ट्र की अपील के बावजूद ईरान ने एक बलोच व्यक्ति को फांसी की सजा दे दी और उसे सरेआम फांसी पर लटका दिया. उसपर हत्या, अपहरण और आतंकवाद से जुड़े होने का आरोप था. फांसी पर लटकाए गए व्यक्ति का नाम जाविद देहगान कलाद था. उसे सिस्तान-बलूचिस्तान राज्य में फांसी पर लटकाया गया.

यूएन ने की थी फांसी की सजा न देने की अपील

संयुक्त राष्ट्र ने 29 जनवरी को ही जाविद देहगान कलाद को फांसी की सजा न देने की अपील की थी. जानकारी के मुताबिक देहगान को जून 2015 में गिरफ्तार किया गया था और जिहादी ग्रुप जैश अल अब्ल(न्याय की सेना) नाम के ग्रुप से जुड़ा माना गया था. उसपर लगे आरोप सही पाए गए थे. 

राष्ट्र से युद्ध का दोषी

देहगान को मोहम्मद उमर नाम से भी जाना जाता था. उसे राष्ट्र के खिलाफ हथियार बंद युद्ध का दोषी पाया गया. देहगान को ईरान (Iran) के रिवोल्यूशनरी गार्ड के दो सैनिकों को 2015 में मारने का दोषी भी पाया गया. साथ ही उसपर बॉर्डर गार्ड के 5 सैनिकों पर धावा बोलने के मामले में भी दोष सिद्ध हुआ, उस हमले में एक सैनिक की मौत हो गई थी.

यूएन ने की थी अपील

जिनेवा में मानवाधिकार मामलों के यूएन हाई कमिश्नर ने ट्विटर पर अपील की थी और कहा था कि जाविद देहगान की सजा पर तुरंत रोक लगाई जाए. इसके साथ ही मानवाधिकार कानूनों को भी रिव्यू किया जाए. उन्होंने कहा था कि दिसंबर के बीच से अबतक कम से कम 28 लोगों को फांसी की सजा दी जा चुकी है, इसमें से अधिकतर अल्पसंख्यक समुदाय के लोग हैं.

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.