ईरान ने हमले के लिए अलगाववादियों को ठहराया जिम्मेदार, कहा- उन्हें भड़काने वाला अमेरिका है

ईरान में शनिवार को वार्षिक सैन्य परेड पर चार आतंकवादियों ने हमला किया था. इस हमले की जिम्मेदारी इस्लामिक स्टेट ने ली. 

ईरान ने हमले के लिए अलगाववादियों को ठहराया जिम्मेदार, कहा- उन्हें भड़काने वाला अमेरिका है
ईरानी राष्ट्रपति हसन रूहानी.(फाइल फोटो)

तेहरान: ईरानी राष्ट्रपति हसन रूहानी सैन्य परेड पर हुए हमले के लिए रविवार को अरब अलगाववादियों को जिम्मेदार ठहराते प्रतीत हुए. शनिवार को हुए उस हमले में 29 लोग मारे गए थे. रूहानी ने न्यूयार्क में होने वाले संयुक्त राष्ट्र महा सभा के सत्र में हिस्सा लेने के लिए तेहरान से रवाना होते हुए सरकारी टेलीविजन पर कहा, ‘‘हमें यह बिल्कुल स्पष्ट है कि यह किसने किया है, यह कौन सा समूह है और वह किससे सम्बद्ध है . ’’ उन्होंने इराक के पूर्व तानाशाह सद्दाम हुसैन का उल्लेख करते हुए कहा, ‘‘जिन्होंने इसे अंजाम दिया है.

वे सद्दाम के रहने तक उनके लड़ाके थे और उसके बाद उन्होंने अपने हुक्मरान बदल लिये.’’ रूहानी ने कहा, ‘‘अरब की खाड़ी के दक्षिण में स्थित देशों में से एक उसके वित्तीय, हथियार एवं राजनीतिक जरूरतों की देखभाल करता है.’’ उन्होंने कहा, ‘‘इन छोटे देशों का अमेरिका समर्थन करता है. उन्हें भड़काने वाला भी अमेरिका है. ’’ ईरान में शनिवार को वार्षिक सैन्य परेड पर चार आतंकवादियों ने हमला किया था. इस हमले की जिम्मेदारी इस्लामिक स्टेट ने ली. 

ईरान ने परेड पर हमले में 25 लोगों की मौत के बाद पश्चिमी देशों के राजनयिकों को तलब किया
दक्षिण-पश्चिमी ईरान में सैनिकों की वर्दी पहने आतंकवादियों ने एक वार्षिक ईरानी सैन्य परेड पर गोलीबारी की जिसमें कम से कम 25 लोग से अधिक मारे गए और 60 से ज्यादा घायल हो गए. पिछले करीब एक दशक में ईरान में हुआ यह सबसे जानलेवा आतंकवादी हमला है. रात के वक्त तेल की पाइपलाइनों पर हमलों के लिए कुख्यात क्षेत्र के अरब अलगाववादियों ने इस हमले की जिम्मेदारी ली.

ईरान को लेकर ट्रंप का बदला सुर, कहा- बिना शर्त रूहानी से मिलने को तैयार हूं

ऐसा लग रहा है कि ईरान के अधिकारी अलगाववादियों के दावे पर यकीन कर रहे हैं. ईरान ने हमले को अंजाम देने वाले ‘‘आतंकवादी संगठनों के सदस्यों’’ को कथित तौर पर पनाह देने को लेकर रविवार को ब्रिटेन, डेनमार्क और नीदरलैंड्स के राजनयिकों को तलब किया. ईरान के विदेश मंत्री मोहम्मद जवाद जरीफ अलगाववादियों को धन और हथियार मुहैया कराने के लिए क्षेत्र के देशों और उनके ‘‘अमेरिकी आकाओं’’ को जिम्मेदार ठहराया.

ईरान परमाणु करार से अमेरिका के पीछे हटने के बाद क्षेत्र में व्याप्त तनाव के बीच जरीफ ने चेतावनी देते हुए ट्वीट किया, ‘‘ईरानी जिंदगियों की हिफाजत के लिए ईरान तेजी से और निर्णायक तरीके से कार्रवाई करेगा. ’’ यह हमला उस वक्त हुआ जब रेवोल्यूशनरी गार्ड के जवान अहवाज के कुद्स की तरफ मार्च कर रहे थे.  

इनपुट भाषा से भी