close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

इजरायल ने अमेरिकी मुस्लिम सांसदों पर लगाया बैन, जानिए फिर ट्रंप क्यों हो रहे खुश

इजरायल के आंतरिक मंत्रालय ने कहा, "इजरायल से यह अपेक्षा कैसे की जा सकती है कि वह देश में उन लोगों को आने की अनुमति देगी, जो देश को चोट पहुंचाना चाहते हैं." 

इजरायल ने अमेरिकी मुस्लिम सांसदों पर लगाया बैन, जानिए फिर ट्रंप क्यों हो रहे खुश
फाइल फोटो-Reuters

जेरुसलम: इजरायली सरकार का कहना है कि वे दो अमेरिकी मुस्लिम सांसदों को देश में प्रवेश करने की अनुमति नहीं देंगे, जो बहिष्कार, विभाजन और प्रतिबंध (बीडीएस) आंदोलन का समर्थन करते हैं. एफे न्यूज की सूचना के अनुसार, अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप द्वारा सार्वजनिक रूप से इजरायल से मिनेसोटा की डेमोक्रेटिक प्रतिनिधि इल्हान उमर और मिशिगन की रशीदा तलाइब के इजरायल दौरे पर रोक लगाने का आग्रह करने वाले ट्वीट के बाद ही, इजरायली अधिकारियों ने गुरुवार को वीटो की घोषणा की. इजरायल के उपविदेश मंत्री तजिपी होटोवेली ने रेशेत रेडियो को बताया, "निर्णय ले लिया गया है, उन्हें प्रवेश करने की अनुमति नहीं दी जाएगी."

एक सोमाली शरणार्थी उमर और फिलीस्तीनी अप्रवासियों की डिट्रॉइट-जन्मी बेटी तलाइब ने कांग्रेस में चयनित होने वाली पहली मुस्लिम महिलाएं बनकर इतिहास रचा था. ये दोनों इजरायली प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू की दक्षिणपंथी सरकार की मुखर आलोचक हैं.

इजरायल के आंतरिक मंत्रालय ने कहा, "इजराइल राज्य अमेरिकी कांग्रेस को दोनों देशों के बीच घनिष्ठ गठबंधन का हिस्सा मानता है, लेकिन यह समझ से बाहर है कि इजरायल से यह अपेक्षा कैसे की जा सकती है कि वह देश में उन लोगों को आने की अनुमति देगी, जो देश को चोट पहुंचाना चाहते हैं."

वहीं ट्रंप ने लिखा, "अगर इजरायल ओमर और तलाइब के दौरे को मंजूरी देते हैं तो यह उनकी कमजोरी को दर्शाएगा. वे इजरायल और सभी यहूदियों से नफरत करती हैं और ऐसा कुछ भी नहीं है, जिससे उनके विचार को बदलने के लिए कहा या किया जा सके. मिनेसोटा और मिशिगन में उन्हें कार्यालय में वापस रखना कठिन होगा.

वे शर्मनाक हैं." ट्रंप ने दो मुस्लिम महिलाओं और उनके सहयोगियों मैसाचुसेट्स के अयान प्रेसली और न्यूयॉर्क के अलेक्जेंड्रिया ओकासियो-कोर्टेज पर अमेरिका से नफरत करने का आरोप लगाते हुए कहा कि उन्हें अपने ही देशों में 'वापस जाना' चाहिए. हालांकि उमर का जन्म संयुक्त राज्य अमेरिका में ही हुआ था.

उमर और तलाइब पर प्रतिबंध लगाने को लेकर नेतन्याहू सरकार के फैसले की इजरायल के वामपंथियों ने आलोचना की है. कनेसेट में अरब ज्वाइंट लिस्ट के नेता अयमान ओदेह ने कहा, "इजराइल ने हमेशा से फिलिस्तीनियों को उनकी भूमि से प्रतिबंधित करता आ रहा है और हमें अन्य फिलिस्तीनियों से अलग कर दिया है."

वहीं वाशिंगटन में इजरायल के राजदूत रॉन डर्मर ने पिछले महीने कहा था कि इजरायल, कांग्रेस के किसी सदस्य को प्रवेश से नहीं रोकेगा, भले ही वह बीडीएस की वकालत करने वाला हो, या न हो.