इजरायल: बहुमत मिलने के बावजूद बेनी गेंट्ज नहीं बना पाए सरकार, जानिए क्या है वजह...

किसी दल को अब सिर्फ 21 दिनों के अंदर 61 सदस्यों के समर्थन से संसद में सरकार बनाने का दावा पेश करना होगा, नहीं तो इसके बाद एक बार फिर चुनाव की घोषणा कर दी जाएगी.

इजरायल: बहुमत मिलने के बावजूद बेनी गेंट्ज नहीं बना पाए सरकार, जानिए क्या है वजह...
बेनी गेंट्ज (फाइल फोटो)

जेरूशलम: इजरायल (Israel) के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू के प्रतिद्वंद्वी बेनी गेंट्ज ने घोषणा कर दी है कि मध्यरात्रि की समयसीमा से पहले वह सरकार नहीं बना पाए हैं. इसके साथ ही इजरायल में एक साल के अंदर तीसरी बार चुनाव होने की संभावना बढ़ गई है. समाचार एजेंसी सिन्हुआ के अनुसार, गेंट्ज ने बुधवार को कहा कि उन्होंने राष्ट्रपति रूवेन रिवलिन (Reuven Rivlin) को अपना निर्णय बता दिया और राष्ट्रपति द्वारा उन्हें पिछले महीने दिया गया सरकार बनाने का शासनादेश वापस कर दिया.

LIVE TV...

उन्होंने कहा कि नेतन्याहू ने भ्रष्टाचार के कई मामलों में संसदीय प्रतिरक्षा की मांग खत्म करने से इंकार कर दिया है, जिसमें वह मुख्य संदिग्ध हैं. बेनी गेंट्ज (Benny Gantz) ने 17 सितंबर को हुए चुनाव का हवाला देते हुए कहा, "इजरायल के इतिहास में यह खतरनाक और पहला प्रयास है, जिसमें इजरायल के लोगों को वह सरकार नहीं बनाने दी गई हो, जिसके लिए उन्होंने वोट दिया है." चुनाव में गेंट्ज की पार्टी को सबसे ज्यादा वोट मिले थे.

उन्होंने नेतन्याहू पर अभियोग से बचने के लिए एक साल तक अंतरिम सरकार चलाने का आरोप लगाया. इससे पहले राष्ट्रपति ने नेतन्याहू को सरकार बनाने का आमंत्रण दिया था, लेकिन वह इजरायल की 120 सीटों वाली संसद में 61 सदस्यों का समर्थन नहीं हासिल कर सके. किसी दल को अब सिर्फ 21 दिनों के अंदर 61 सदस्यों के समर्थन से संसद में सरकार बनाने का दावा पेश करना होगा, नहीं तो इसके बाद एक बार फिर चुनाव की घोषणा कर दी जाएगी.