close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

इजरायल: विवादों के बीच आया आम चुनाव का रिजल्ट, नेतन्याहू से मिले गेंट्ज

एविग्डोर लिबरमैन की पार्टी 'इजरायल ऑवर होम' को हाल के चुनावों में 8 सीटें मिली हैं. लिबरमैन ने धार्मिक पार्टियों के साथ उदार एकता वाली सरकार का आह्वान किया है. शास ने नौ सीटें जीती हैं. यह एक यहूदी अति रुढ़िवादी पार्टी है, जबकि एक अन्य अति-रुढ़िवादी पार्टी यूनाइटेड तोरह जुडेसम ने सात सीटें जीती हैं.

इजरायल: विवादों के बीच आया आम चुनाव का रिजल्ट, नेतन्याहू से मिले गेंट्ज
बेंजामिन नेतन्याहू. तस्वीर साभार- फेसबुक

जेरूसलम: इजरायल की केंद्रीय चुनाव समिति ने बुधवार को 17 सितंबर को हुए संसदीय चुनावों के अंतिम परिणामों की घोषणा की. समिति ने कहा कि मौजूदा प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू (Benjamin Netanyahu) की सत्तारूढ़ लिकुड पार्टी को छह मतपत्रों में संभावित कदाचार के बाद एक सीट अतिरिक्त या कुल 32 सीट दी जानी चाहिए. समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के मुताबिक, चुनाव समिति ने एक बयान में कहा कि संभावित कदाचार की सावधानीपूर्वक जांच करने के बाद फैसला लिया गया है.

हालांकि, दक्षिणपंथी सत्तारूढ़ पार्टी अभी भी पूर्व रक्षा मंत्री बेन्नी गेंट्ज की अगुवाई वाली मध्यमार्गी ब्लू एंड व्हाइट पार्टी से पीछे है. ब्लू एंड व्हाइट को 33 सीटों पर जीत मिली है. अरब-यहूदी ज्वाइंट लिस्ट पार्टी को 13 सीटों पर जीत मिली है. यह किंसेट (संसद) में तीसरी सबसे बड़ी पार्टी बन गई है.

एविग्डोर लिबरमैन की पार्टी 'इजरायल ऑवर होम' को हाल के चुनावों में 8 सीटें मिली हैं. लिबरमैन ने धार्मिक पार्टियों के साथ उदार एकता वाली सरकार का आह्वान किया है. शास ने नौ सीटें जीती हैं. यह एक यहूदी अति रुढ़िवादी पार्टी है, जबकि एक अन्य अति-रुढ़िवादी पार्टी यूनाइटेड तोरह जुडेसम ने सात सीटें जीती हैं.

लाइव टीवी देखें-:

येमिना को सिर्फ सात सीटें मिली हैं. यह प्रो-सेटलर पार्टियों व नेतन्याहू की करीबी सहयोगी है. अप्रैल के बाद हुए चुनाव में 120 सीटों वाली संसद में किसी भी पार्टी को पर्याप्त बहुमत नहीं मिला है जिससे वह सरकार बना सके. इससे राजनीतिक संकट पैदा हो गया.

गतिरोध को दूर करने के प्रयास के तहत राष्ट्रपति रुवेन रिवलिन ने नेतन्याहू और गेंट्ज को मुलाकात के लिए बुलाया और मजबूत सरकार बनाने के लिए एक समझौते पर पहुंचने को कहा.