पंपोर हमले के बाद जमात-उद-दावा के नंबर-2 मक्की ने उगला जहर- 'दो शेरों ने गीदड़ों के काफिले को घेर लिया'

कश्मीर के सीआरपीएफ के काफिले पर आतंकी हमले के बाद हाफिज सईद की पत्नी के भाई अब्दुर रहमान मक्की ने शहीद जवानों के खिलाफ जहर उगला है। पाकिस्तान के गुजरांवाला में एक रैली को संबोधि‍त करते हुए जमात-उद-दावा के नंबर-2 ने भारतीय जवानों की तुलना गीदड़ से की और आतंकियों को शेर बताया। उसने कहा- 'दो शेरों ने गीदड़ों के काफिले को घेर लिया और उन पर भारी पड़े।' रैली में जमात-उद-दावा का प्रमुख हाफिज सईद भी मौजूद था।  पंपोर हमले के अगले ही दिन रविवार को अयोजित इस रैली का एक वीडियो सामने आया है, जिसमें मक्की खुलेआम पाकिस्तानियों से हिंदुस्तान के खि‍लाफ जंग में हिस्सा लेने की अपील कर रहा है।

पंपोर हमले के बाद जमात-उद-दावा के नंबर-2 मक्की ने उगला जहर- 'दो शेरों ने गीदड़ों के काफिले को घेर लिया'

नई दिल्ली: कश्मीर के सीआरपीएफ के काफिले पर आतंकी हमले के बाद हाफिज सईद की पत्नी के भाई अब्दुर रहमान मक्की ने शहीद जवानों के खिलाफ जहर उगला है। पाकिस्तान के गुजरांवाला में एक रैली को संबोधि‍त करते हुए जमात-उद-दावा के नंबर-2 ने भारतीय जवानों की तुलना गीदड़ से की और आतंकियों को शेर बताया। उसने कहा- 'दो शेरों ने गीदड़ों के काफिले को घेर लिया और उन पर भारी पड़े।' रैली में जमात-उद-दावा का प्रमुख हाफिज सईद भी मौजूद था।  पंपोर हमले के अगले ही दिन रविवार को अयोजित इस रैली का एक वीडियो सामने आया है, जिसमें मक्की खुलेआम पाकिस्तानियों से हिंदुस्तान के खि‍लाफ जंग में हिस्सा लेने की अपील कर रहा है।

फेसबुक के जरिए पोस्ट किए गए इस वीडियो में मक्की सरेआम पाकिस्तानियों से हिंदुस्तान के खि‍लाफ युद्ध में हिस्सा लेने की अपील करते हुए कहता है, 'मैं रहीम यार खान से मिलने जा रहा था तो तब भारतीय मीडिया चीख रही थी- 'पंपोर में हमारी सेना, हमारे हीरो ट्रेनिंग से बड़ी बसों में लौट रहे थे, जिन्हें दो आतंकियों ने घेर लिया।' लेकिन मैं तो कहूंगा कि दो शेरों ने गीदड़ों के काफिले को घेर लिया।'  गौर हो कि कश्मीर के पंपोर में 25 जून को आतंकवादियों ने घात लगाकर सीआरपीएफ काफिले पर हमला किया था जिससे आठ सीआरपीएफ कर्मी शहीद हो गए एवं 21 अन्य घायल हो गए।

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.