close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

आतंक के खिलाफ भारत की लड़ाई को जापान का समर्थन, पाकिस्तान को सुनाई खरी-खरी

जापान ने जम्मू कश्मीर के पुलवामा 14 फरवरी को हुए आतंकी हमले की निंदा करते हुए पाकिस्तान से कहा है...

आतंक के खिलाफ भारत की लड़ाई को जापान का समर्थन, पाकिस्तान को सुनाई खरी-खरी
फाइल फोटो- ANI

नई दिल्लीः पाकिस्तान में पनप रहे आतंकियों के खिलाफ भारत द्वारा की गई कार्रवाई का अमेरिका, रूस और फ्रांस के बाद अब जापान ने भी समर्थन किया है. जापान ने पाकिस्तान से कड़े शब्दों में कहा है कि वह आतंकवाद के खिलाफ सख्त कार्रवाई करे. जापान ने जम्मू कश्मीर के पुलवामा 14 फरवरी को हुए आतंकी हमले की निंदा करते हुए पाकिस्तान से कहा है कि वह आतंकी गतिविधियों में शामिल लोगों पर कड़ी कार्रवाई करे.

जापान के विदेश मंत्री तारो कोनो ने कहा, 'हम कश्मीर के गंभीर हालातों पर चिंतित है, 14 फरवरी को इस्लामी कट्टरपंथी समूह जैश ए मोहम्मद द्वारा किए गए हमले की कड़ी निंदा करते है. पाकिस्तान से अपील करते है कि वह आतंकवाद के खिलाफ सख्त कार्रवाई करे. '

26 फरवरी को भारतीय सेना द्वारा की गई कार्रवाई के बाद भारत और पाकिस्तानी वायुसेना के आमने सामने होने के बाद उपजी स्थिति पर जापान ने भारत और पाकिस्तान से संयम बरतने और शांति व बातचीत के जरिए मामले सुलझाने की अपील की है.

बता दें कि जापान के अलावा आतंकवाद को अपनी जमीन पर पनाह देने वाले पाकिस्‍तान को अमेरिका ने एक बार फिर चेताया है. अमेरिका ने कहा, 'सीमा पार आतंकवाद और हाल ही में भारत के केंद्रीय रिजर्व पुलिस फोर्स (सीआरपीएफ) पर आतंकी हमले से इस क्षेत्र की सुरक्षा को बड़ा खतरा पहुंच रहा है.' अमेरिका पाकिस्‍तान को उसके वादे की भी याद दिलाई. अमेरिकी विदेश विभाग ने कहा कि हम अपील करते हैं कि पाकिस्तान, आतंकवादियों को सुरक्षित पनाह देना और धन मुहैया कराना बंद करने की, संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद से की गई अपनी प्रतिबद्धता का पालन करे.

पुलवामा हमले के बाद आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्‍मद के खिलाफ की गई भारतीय वायुसेना की कार्रवाई का अमेरिका ने भी समर्थन किया है. अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पॉम्पियो ने बुधवार रात को भारत के राष्‍ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजित डोभाल से फोन पर बातचीत की. इस दौरान उन्‍होंने जैश-ए-मोहम्‍मद के खिलाफ की गई भारत की कार्रवाई का समर्थन किया. इस दौरान उन्‍होंने डोभाल से कहा कि पाकिस्‍तानी जमीन पर जैश-ए-मोहम्‍मद के आतंकी कैंपों पर भारत की कार्रवाई का अमेरिका समर्थन करता है.