जिंदल ने समलैंगिक विवाह पर ओबामा और हिलेरी की आलोचना की

लुइसियाना के भारतीय मूल के अमेरिकी गवर्नर बॉबी जिंदल ने समान लिंग में विवाह संबंधी विचारों के लिए अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा और राष्ट्रपति पद के लिए उम्मीदवारी पेश करनी वाली डेमोक्रेटिक पार्टी की नेता हिलेरी क्लिंटन की आलोचना करते हुए कहा कि उन्होंने जनमत संग्रह के आधार पर अपने विचार बदल लिए हैं।

जिंदल ने समलैंगिक विवाह पर ओबामा और हिलेरी की आलोचना की

वाशिंगटन: लुइसियाना के भारतीय मूल के अमेरिकी गवर्नर बॉबी जिंदल ने समान लिंग में विवाह संबंधी विचारों के लिए अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा और राष्ट्रपति पद के लिए उम्मीदवारी पेश करनी वाली डेमोक्रेटिक पार्टी की नेता हिलेरी क्लिंटन की आलोचना करते हुए कहा कि उन्होंने जनमत संग्रह के आधार पर अपने विचार बदल लिए हैं।

2016 में होने वाले राष्ट्रपति पद के चुनाव में 13वें रिपब्लिकन प्रत्याशी जिंदल ने कहा, ‘ राष्ट्रपति और हिलेरी दोनों ने जनमत संग्रह के आधार पर अपने विचार बदल लिए। वे सुप्रीम कोर्ट की तरह जनमत संग्रह पढ सकते हैं। 44 वर्षीय जिंदल ने एक साक्षात्कार में कहा, ‘ विवाह पर मेरे विचार मेरे ईसाई विश्वास पर आधारित हैं। किसी भी अदालत का आदेश उन्हें नहीं बदलेगा। मेरा मानना है कि विवाह एक पुरष और एक स्त्री के बीच होता है।’ ओबामा ने समलैंगिक विवाह को अमेरिका की जीत बताया था और हिलेरी ने भी अमेरिकी सुप्रीम कोर्ट के इस ऐतिहासिक निर्णय की प्रशंसा की है। सुप्रीम कोर्ट ने समलैंगिक विवाह को कानूनी मान्यता देते हुए कहा है कि समलैंगिक लोग देश के सभी 50 राज्यों में विवाह कर सकते हैं।

जिंदल ने कहा, ‘विवाह पर मेरे विचार जनमत संग्रह के आधार पर बदले नहीं हैं। मैं भी राष्ट्रपति की तरह जनमत संग्रह पढ सकता हूं। ये विचार मेरे विश्वास पर आधारित हैं। मुझे लगता है कि विवाह एक पुरष और एक महिला के बीच होना चाहिए।’ जिंदल ने नस्लवाद पर कहा, ‘ मैंने कहा है कि हमें स्वयं को बंटे हुए अमेरिकियों के तौर पर देखना बंद करना चाहिए। हम अफ्रीकी-अमेरिकी या भारतीय-अमेरिकी नहीं हैं। हम सभी अमेरिकी हैं। मुझे लगता है कि लोगों को उनकी चमड़ी के आधार पर देखना सबसे बेवकूफाना तरीका है। ’

जिंदल की लोकप्रियता की रेटिंग उनके गृह राज्य में काफी कम है और इस बारे में पूछे जाने पर जिंदल ने कहा कि वह अपने निर्णय जनमत संग्रह के आधार पर नहीं लेते। उन्होंने कहा कि यदि उन्हें चुनाव से डर लगता तो वह दो बार चुनावों में जबरदस्त जीत हासिल नहीं कर पाते।

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.