close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

पाकिस्तान के पूर्व विदेश मंत्री बोले- झूठी है इमरान सरकार, दुनिया में हमारे साथ कोई नहीं खड़ा

पाकिस्तान की सरकार चलेगी या नहीं? इस पर तंज कसते हुए आसिफ ने कहा, ''नौकरी करते हुए ट्रेनिंग नहीं की जा सकती.

पाकिस्तान के पूर्व विदेश मंत्री बोले- झूठी है इमरान सरकार, दुनिया में हमारे साथ कोई नहीं खड़ा
ख्वाजा आसिफ नवाज शरीफ सरकार में विदेश मंत्री रह चुके हैं. (फाइल फोटो)

इस्लामाबाद: पाकिस्तान (Pakistan) की नवाज शरीफ सरकार में विदेश मंत्री रहे ख्वाजा मोहम्मद आसिफ (Khawaja Muhammad Asif) ने प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) सरकार को झूठी सरकार करार दिया है. उन्होंने नाराजगी जताते हुए कहा कि इनको अपनी गलती पर शर्मिंदगी भी नहीं होती.

एक टीवी चैनल को दिए इंटरव्यू में ख्वाजा ने कहा, ''पिछले 12 महीनों में प्रधानमंत्री (इमरान खान) ने बहुत सारे गलत ट्वीट किए हैं. मसलन, समंदर से तेल निकलने वाला है, उसका क्या हुआ? जबकि तेल की 12 फीसदी संभावना थी. अब तो गिनती भी भूल गए हैं कि पीएम ने कितने झूठे ट्वीट किए हैं. ट्वीट करके मुकर गए. अपनी गलती पर शर्मिंदगी भी नहीं होती.''

सारे आकलन गलत निकले
जब उनके पूछा गया कि कश्मीर मुद्दे पर इमरान और विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने 58 देशों के समर्थन का दावा किया था. पाकिस्तान 16 सदस्य देशों को इकट्ठा नहीं क्यों नहीं कर सका? जब प्रस्ताव पेश करने की बारी आई तो पीछे हट गए. इस पर पूर्व विदेश मंत्री आसिफ ने कहा, ''संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद में इमरान सरकार के सारे आकलन गलत निकले. हमारा कूटनीतिक अलगाव सामने आ गया है. दुनिया में अब हमारे साथ कोई नहीं खड़ा है. उन्होंने चार साल के भीतर अंडों, मुर्गियों, घरों, नौकरियों लेकर मनी लॉन्ड्रिंग तक झूठ का अंबार खड़ा किया है. आज सरकार में आकर भी वे यही कर रहे हैं.''

सरकार चलेगी या नहीं?
पाकिस्तान की सरकार चलेगी या नहीं? इसके जवाब में आसिफ ने तंज कसते हुए कहा, ''नौकरी करते हुए ट्रेनिंग नहीं की जा सकती. ट्रेनिंग पहले होनी चाहिए थी.''  उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री इमरान ने अपनी पार्टी से इतर लोगों को भी सरकार में जगह दी है, लेकिन काम फिर भी नहीं चल रहा. जो भी इन्होंने कदम उठाए हैं, वो सभी विफल रहे हैं.

पाकिस्तान में फिर एक बार सैनिक शासन की तैयारी, इमरान के तख्तापलट की तारीख 'तय'
आपको बता दें कि पाकिस्तान में फिर एक बार सैनिक शासन की तैयारी हो चुकी है, क्योंकि पाकिस्तान के बड़े बिजनेसमैन के साथ न होकर पाकिस्तान की राजधानी इस्लामाबाद में न होकर अब रावलपिंडी में हो रही है, जहां पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी का हेडक्वार्टर है. वैसे भी पाकिस्तान की तरह वहां के प्रधानमंत्री इमरान ख़ान भी फेल हो चुके हैं.