Zee Rozgar Samachar

Londan: डिमेंशिया पीड़ित महिला के केस में जज का अनूठा फैसला- Sex कर सकती है, शादी नहीं

लंदन हाई कोर्ट (London High Court) ने डिमेंशिया (Dementia) से पीड़ित एक महिला को लेकर सुनाए अपने फैसले में कहा, 'महिला को सेक्स के लिए इजाजत दी जा सकती है, लेकिन वह शादी नहीं कर सकती. डिमेंशिया पीड़ितों को याद्दाश्त से जुड़ी दिक्कत सामने आती है. 

Londan: डिमेंशिया पीड़ित महिला के केस में जज का अनूठा फैसला- Sex कर सकती है, शादी नहीं
प्रतीकात्मक तस्वीर

लंदन: अमेरिका और ब्रिटेन जैसे देश महिला अधिकारों और आजादी को लेकर ज्यादा सजग माने जाते हैं. भारत में भी महिलाओं की स्थिति में तेजी से बदलाव आया है. संविधान और कानून से मिले अधिकारों की वजह से मिली खुशियों के बीच लंदन हाईकोर्ट (London High Court) से आया एक फैसला चर्चा में हैं. यहां एक बीमार महिला को लेकर कोर्ट ने जो फैसला सुनाया वो अब वायरल है. ये फैसला एक 69 साल की महिला के मामले में आया जो एक ओल्ड एज केयर होम में रहती है और उसे वहीं रहने वाले एक शख्स से प्यार हो गया था.

पीड़िता की मनोदशा के मद्देनजर फैसला

यूके यानी ब्रिटेन के लंदन हाई कोर्ट (London High Court) ने डिमेंशिया (Dementia) से पीड़ित एक महिला को लेकर सुनाए अपने फैसले में कहा, 'महिला को सेक्स के लिए इजाजत दी जा सकती है, लेकिन वह शादी नहीं कर सकती. गौरतलब है कि डिमेंशिया वो बीमारी है जिससे पीड़ित किसी भी पुरुष या महिला को भूलने यानी याद्दाश्त की समस्या पैदा होती है. डॉक्टरों के मुताबिक डिमेंशिया पीड़ित के फैसले लेने की क्षमता पर भी अप्रत्याशित बुरा असर पड़ता है. 

ये भी पढ़ें- Male Menstruation: महिलाओं की तरह पुरुषों को भी होते हैं Periods, रिसर्च में हुआ खुलासा

सोशल सर्विस काउंसिल ने की थी दखल की अपील

ब्रिटिश अखबार द टेलिग्राफ की रिपोर्ट के मुताबिक, लंदन हाई कोर्ट के एक जज ने कहा कि पीड़ित महिला की मानसिक क्षमता ऐसी नहीं है कि वह शादी को लेकर कोई फैसला कर सके. हालांकि, जज ने अपने फैसले में ये जरूर कहा कि वह महिला अपने सेक्शुअल रिलेशन को लेकर फैसला ले सकती है. दरअसल ब्रिटेन की सोशल सर्विस काउंसिल (Social service counsell) ने महिला के संबंध में कोर्ट से फैसले की मांग की थी.

ये भी पढ़ें- Men's Impotence: पुरुष तेजी से बन रहे हैं नपुंसक! आज ही खाना छोड़े ये चीजें

जज ने कहा कि महिला के पास मुकदमा, घर, देखभाल, वित्तीय मामले, संपत्ति और शादी से जुड़े फैसले लेने की मानसिक क्षमता नहीं है. जज ने कहा कि महिला को इस बात का अंदाजा नहीं है कि तलाक या अन्य किसी दुखद स्थिति में उसकी संपत्ति का वारिस कौन होगा.

ये भी पढ़ें- क्या आपका Love आपसे हो रहा है दूर? इन टिप्स से Partner को कराएं Special Feel
LIVE TV

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.