कारोबारी विजय माल्या ने कसा तंज, कहा- 'आप अरबों पाउंड के सपने देखते रहें'

 बैंकों का 9,000 करोड़ रुपये का कर्ज नहीं चुकाने के मामले में भारत में वांछित कारोबारी विजय माल्या ने मंगलवार को यह दावा किया कि अपने मुकदमे के पक्ष में पैरवी करने के लिए उनके पास र्प्‍याप्‍त सबूत है, तो साथ ही उन्‍होंने यह कहकर भारतीय अधिकारियों पर तंज भी कसा कि 'आप एक अरब पाउंड का सपना देखते रह सकते हैं'.

कारोबारी विजय माल्या ने कसा तंज, कहा- 'आप अरबों पाउंड के सपने देखते रहें'
आप एक अरब पाउंड का सपना देखते रह सकते हैं- विजय माल्या

नई दिल्‍ली/लंदन:  बैंकों का 9,000 करोड़ रुपये का कर्ज नहीं चुकाने के मामले में भारत में वांछित कारोबारी विजय माल्या ने मंगलवार को यह दावा किया कि अपने मुकदमे के पक्ष में पैरवी करने के लिए उनके पास र्प्‍याप्‍त सबूत है, तो साथ ही उन्‍होंने यह कहकर भारतीय अधिकारियों पर तंज भी कसा कि 'आप एक अरब पाउंड का सपना देखते रह सकते हैं'.

मामले की सुनवाई के सिलसिले में पेश हुए माल्या

अपने प्रत्यर्पण से जुड़े मामले की सुनवाई के सिलसिले में वेस्टमिंस्टर की मजिस्‍ट्रेट अदालत में पेश हुए 61 साल के माल्या ने कहा, 'मैं लगाए गए सभी आरोपों को नकारता हूं और मैं उन्हें नकारता रहूंगा'. मुख्य मजिस्‍ट्रेट एम्मा लुइस अरबुथनाट ने उन्हें चार दिसंबर तक जमानत दे दी. मामले की अगली सुनवाई छह जुलाई को होगी. 

और पढ़ें: लंदन की अदालत में पेश हुए माल्या, कहा- अपना पक्ष साबित करने के लिए मेरे पास काफ़ी सबूत

मैं किसी अदालत से नहीं बच रहा

माल्या ने अदालत के बाहर पत्रकारों को बताया, 'मैं किसी अदालत से नहीं बच रहा. अपना पक्ष साबित करने के लिए मेरे पास पर्याप्त सबूत हैं'. अपने बेटे सिद्धार्थ माल्या, एक महिला साथी और कुछ समर्थकों के साथ अदालत पहुंचे माल्या ने कहा, 'मैं मीडिया में कोई बयानबाजी नहीं करता, क्योंकि मैं जो कुछ कहता हूं उसे तोड़-मरोड़ दिया जाता है'. माल्या को स्कॉटलैंड यार्ड ने अप्रैल में गिरफ्तार किया था और उसके बाद से वह जमानत पर हैं. उनकी जमानत चार दिसंबर तक बढ़ा दी गई है. माना जा रहा है कि मामले की अंतिम सुनवाई चार दिसंबर को ही होगी.

और पढ़ें: मोदी के मंत्री ने कहा, ₹9000 करोड़ लेकर भागे माल्या को भारत लाना आसान नहीं

चार दिसंबर तक जमानत 

मुख्य मेटोपालिटन मजिस्टेट एम्मा लुइस अरबुथनाट ने माल्या को चार दिसंबर तक जमानत दे दी. मामले की अगली सुनवाई छह दिसंबर तक की गयी है. माल्या ने अदालत के बाहर पत्रकारों को बताया, 'मैं किसी अदालत से नहीं बच रहा...अपना पक्ष साबित करने के लिए मेरे पास पर्याप्त सबूत हैं.' भारतीय अधिकारियों की तरफ से ब्रिटेन क्राउन प्रॉसिक्यूशन सर्विस आरसीपीएसी ने अदालत में भारतीय अधिकारियों का पक्ष रखे. जोसेफ हेग आरोनसन एलएलपी नाम की कंपनी माल्या की बचाव टीम की अगुवाई कर रही है. 

माल्या की किंगफिशन एयरलाइंस ने बैंकों का करीब 9,000 करोड़ रुपये का कर्ज नहीं चुकाया

उन्होंने आपराधिक, नियामक और धोखाधड़ी कानूनों के विशेषज्ञ वकील क्लेयर मोंटगोमरी को अपनी तरफ से पैरवी करने को कहा है. सीपीएस ने मार्क समर्स को सीपीएस प्रत्यर्पण इकाई और भारत सरकार के वकील के तौर पर सेवाएं देने को कहा है. समर्स प्रत्यर्पण और अंतरराष्ट्रीय कानून मामलों के जानेमाने विशेषज्ञ हैं. आज की सुनवाई के लिए सीबीआई के एक अधिकारी भी दिल्ली से यहां पहुंचे हैं. माल्या की किंगफिशन एयरलाइंस ने बैंकों का करीब 9,000 करोड़ रुपये का कर्ज नहीं चुकाया है. इस मामले में वह भारत में वांछित हैं. वह मार्च 2016 से ब्रिटेन में हैं. 18 अप्रैल को प्रत्यर्पण वारंट पर स्कॉटलैंड यार्ड ने उन्हें गिरफ्तार किया था, लेकिन तुरंत ही उन्हें ज़मानत मिल गई थी.