मेरे साथ हुआ 43 हजार 200 बार रेप : मेक्सिकन लड़की

मानव तस्करी ने अमेरिका और मैक्सिको में हजारों लड़कियों की जिंदगी को नर्क बनाकर रख दिया है। मानव तस्‍करों के हाथों फंसी एक ऐसी लड़की की दर्दनाक कहानी सामने आई है जिसकी यातना सुनकर आपके रोंगटे खड़े हो जाएंगे। मानव तस्‍करों के चंगुल से बचकर निकली मैक्सिको सिटी की रहने वाली लड़की कार्ला जैसिंटो ने इसका खुलासा किया है। कार्ला ने बताया कि चार साल के दौरान उसके साथ करीब 43 हजार 200 बार रेप किया गया। यही नहीं, हर दिन 30 से अधिक लोग उसके साथ दुष्‍कर्म करते थे।

मेरे साथ हुआ 43 हजार 200 बार रेप : मेक्सिकन लड़की
तस्वीर सौजन्य : सीएनएन

मैक्सिको सिटी : मानव तस्करी ने अमेरिका और मैक्सिको में हजारों लड़कियों की जिंदगी को नर्क बनाकर रख दिया है। मानव तस्‍करों के हाथों फंसी एक ऐसी लड़की की दर्दनाक कहानी सामने आई है जिसकी यातना सुनकर आपके रोंगटे खड़े हो जाएंगे। मानव तस्‍करों के चंगुल से बचकर निकली मैक्सिको सिटी की रहने वाली लड़की कार्ला जैसिंटो ने इसका खुलासा किया है। कार्ला ने बताया कि चार साल के दौरान उसके साथ करीब 43 हजार 200 बार रेप किया गया। यही नहीं, हर दिन 30 से अधिक लोग उसके साथ दुष्‍कर्म करते थे।

टेलीग्राफ में प्रकाशित एक रिपोर्ट के मुताबिक कार्ला ने कहा कि उसे बचपन में ही मां ने छोड़ दिया था। पांच साल की उम्र में ही उसके साथ एक रिश्तेदार ने यौन शोषण किया। कार्ला ने कहा कि जब मैं 12 साल की थी, तब एक तस्कर मुझे प्यार के सब्‍जबाग दिखाकर अपने साथ ले गया। कार्ला ने खुलासा किया कि 12 साल की होने पर उसे 22 साल का एक युवक गिफ्ट, पैसा और कार का लालच देकर टेनानसिंगो शहर ले गया। ये शहर इसलिए कुख्यात है कि वहां किसी भी लड़की को देह व्यापार में धकेलने से पहले लाया जाता है। वहां कार्ला उस युवक के साथ तीन महीने तक रही। फिर उसे मेक्सिको के बड़े शहर गुआडलाजरा ले जाया गया। इस शहर को सेक्स-ट्रेड का बड़ा सेंटर माना जाता है।

कार्ला ने कहा कि उसे सुबह 10 बजे से मध्य रात्रि तक कई पुरुषों के जिस्मानी संबंध बनाने के लिए मजबूर किया जाता था। कुछ लोग मुझ पर हंसते भी थे, क्योंकि मैं रोती थी। मैं अपनी आंखें बंद कर लेती थी, जिससे कि देख ना सकू कि मेरे साथ क्या हो रहा है। कॉर्ला ने बताया कि इस नर्क में धकेलने वाले युवक ने एक बार गर्दन पर ग्राहक के किस का निशान देखने पर मेरी जमकर पिटाई की। एक दिन कार्ला किसी तरह से वहां से भागने में कामयाब रही। कार्ला ने कहा कि वह जब अपने ऊपर हुए जुल्म को याद करती है तो उसकी रुह कांप जाती है।

मानव तस्‍करी इतना लुभावना व्‍यापार हो गया है कि इसमें सेंट्रल मैक्सिको की अटलांटा और न्‍यूयॉर्क जैसे शहरों के बीच कोई सीमा नहीं है। अमेरिका और मैक्सिको, दोनों जगह के अधिकारी वर्षों से सेंट्रल मैक्सिको के एक कस्‍बे को मानव तस्‍करी के बड़े स्रोत के रूप में चिह्नित करते रहे हैं। यही वो इलाका है, जहां पीडि़तों को जबरन वेश्‍यावृत्ति के धंधे में लगाने से पहले ले जाया जाता है। इस कस्‍बे का नाम टिनांनसिंगो है। हालांकि, यहां की आबादी करीब 13 हजार के आस-पास है, लेकिन वेश्‍यावृत्ति के लिए इस जगह ने कुख्‍याति हासिल की है। वेश्‍यावृत्ति वहां की मुख्‍य इंडस्‍ट्री बन गई है।

छोटे कस्‍बों और ग्रामीण इलाकों में युवा लड़कियों को पता ही नहीं होता है कि उस जगह से आने वाले पुरुष संदिग्‍ध हैं। लड़कियों को लगता है कि उन पुरुषों के साथ उनका भविष्‍य उज्‍जवल होगा और वे मानव तस्‍करों के झांसे में आ जाती हैं। लड़कियों को लगता है कि पुरुष उनसे प्‍यार करते हैं और हर बार वेश्‍यावृत्ति में लड़कियों को धकेलने की यही कहानी दोहराई जाती है।