इस देश में फैली ऐसी नई बीमारी कि कोरोना भी रह गया पीछे, 'रहस्‍यमयी निमोनिया' दिया गया नाम

जहां दुनिया कोरोना (Coronavirus) के कहर से बेहाल है वहीं एक देश ऐसा भी है जो इससे भी ज्‍यादा खतरनाक बीमारी फैल गई है.

इस देश में फैली ऐसी नई बीमारी कि कोरोना भी रह गया पीछे, 'रहस्‍यमयी निमोनिया' दिया गया नाम
फाइल फोटो

बीजिंग: जहां दुनिया कोरोना (Coronavirus) के कहर से बेहाल है वहीं एक देश ऐसा भी है जो इससे भी ज्‍यादा खतरनाक बीमारी फैल रही है. बात हो रही है कजाकिस्‍तान की, जहां एक नई बीमारी लोगों की जान ले रही है. इस बीमारी को एक 'अज्ञात निमोनिया' बताया जा रहा है. दरअसल, चीन ने कजाकिस्तान (Kazakhstan) में रहने वाले अपने नागरिकों को एक स्थानीय 'अज्ञात निमोनिया'  (unknown pneumonia) के प्रति आगाह किया है. उन्‍होंने कहा है कि यह बीमारी कोरोना वायरस संक्रमण से भी 'कहीं अधिक'  जानलेवा है.

कजाकिस्तान में चीन के दूतावास ने वीचैट प्लेटफॉर्म पर एक बयान जारी करके कहा है कि 'कजाकिस्‍तान में अज्ञात निमोनिया से इस वर्ष के शुरुआती छह माह में 1,772 लोगों की मौत हो गई है. इतना ही नहीं इसमें से 628 लोग तो केवल जून माह में मारे गए हैं.' 

ये भी पढ़ें: पढ़ें कुख्यात अपराधी विकास दुबे की क्राइम कुंडली, इतने लोगों की हत्या का था आरोपी

बयान में यह भी कहा गया है कि मरने वालों में चीनी नागरिक भी शामिल हैं.

सरकारी समाचारपत्र 'ग्लोबल टाइम्स' ने शुक्रवार को दूतावास के बयान के हवाले से कहा, 'कोविड-19 बीमारी की तुलना में इस बीमारी से ज्‍यादा संख्या में मौत होने का खतरा है.' दूतावास ने कहा, 'कजाकिस्तान के स्वास्थ्य विभाग समेत अनेक संगठन निमोनिया के इस वायरस के बारे में अध्ययन कर रहे हैं.' 

हालांकि इसमें कहीं भी इस बात का जिक्र नहीं है कि कहीं यह बीमारी कोविड-19 से जुड़ी तो नहीं हैं.

कुछ चीनी विशेषज्ञों का मानना है कि इस निमोनिया को चीन में फैलने से रोकने के लिए जल्‍द कदम उठाने की जरूरत है. क्‍योंकि कजाकिस्तान की सीमा चीन के उत्तर पश्चिम शिनजियांग उइगुर स्वायत्त क्षेत्र से लगती है. दूतावास कजाकिस्तान में मौजूद अपने नागरिकों को जागरूक कर रहा है ताकि वे इस वायरस को फैलने से रोकने के लिए जरूरी एहतियात बरतें. 

रिपोर्ट में कजाकिस्तान के मीडिया में आई उस खबर का भी जिक्र किया गया है जिसमें वहां के स्वास्थ्य मंत्री ने कहा था कि निमोनिया से बीमार होने वाले लोगों की संख्या कोविड-19 से बीमार हुए लोगों की संख्या से दो या तीन गुना अधिक है.

(इनपुट: एजेंसी भाषा)

ये भी देखें-