श्रीलंका आतंकवादी हमले में मरने वाले विदेशी नागरिकों में सर्वाधिक भारतीय

तीन गिरजाघरों तथा पांच-सितारा होटलों पर हुए इन हमलों में 290 लोग मारे गये हैं जबकि 500 से अधिक लोग घायल हुए हैं.

श्रीलंका आतंकवादी हमले में मरने वाले विदेशी नागरिकों में सर्वाधिक भारतीय
(फाइल फोटो)

कोलंबो : श्रीलंका में रविवार को ईस्टर के मौके पर हुए सिलसिलेवार बम धमाकों में मारे गये 31 विदेशी नागरिकों में सबसे अधिक आठ लोग भारत से शामिल हैं. श्रीलंका के विदेश मंत्रालय ने सोमवार को यह जानकारी दी. ऐसा माना जा रहा है कि हमले में शामिल सात आत्मघाती हमलावर इस्लामी चरमपंथी संगठन नेशनल तौहीद जमात के सदस्य थे.

VIDEO: पीएम मोदी की वोटिंग अपील,'आतंकवाद का शस्त्र IED, लोकतंत्र की ताकत वोटर ID'

तीन गिरजाघरों तथा पांच-सितारा होटलों पर हुए इन हमलों में 290 लोग मारे गये हैं जबकि 500 से अधिक लोग घायल हुए हैं. मंत्रालय ने बयान में कहा कि हमले में मारे गये विदेशी नागरिकों में भारत के आठ, ब्रिटेन के सात, चीन, सउदी अरब और तुर्की के दो-दो तथा फ्रांस, जापान, बांग्लादेश, नीदरलैंड और स्पेन के एक-एक नागरिक शामिल हैं. इनके अलावा दो लोग अमेरिका और ब्रिटेन की दोहरी नागरिकता वाले तथा आस्ट्रेलिया और श्रीलंका की दोहरी नागरिकता वाले दो लोग भी शामिल हैं. बता दें कि श्री लंका  सरकार ने मंगलवार को राष्ट्रीय शोक दिवस की घोषणा की है.श्रीलंका में रविवार को ईस्टर के मौके पर गिरजाघरों और आलीशान होटलों को निशाना बनाकर आत्मघाती हमले और आठ सिलसिलेवार शक्तिशाली धमाके किये गये. इन होटलों में काफी संख्या में विदेशी आते हैं.

(इनपुट भाषा)