UK: मां-बेटी ने मचाया कोहराम, एक साथ मिलकर दिया 288 वारदातों को अंजाम

Mother-Daughter With 288 Convictions Jailed: कोर्ट ने दोषी करार देते हुए दोनों मां-बेटी को जेल भेज दिया है. इनके गैंग में एक लड़का भी शामिल था, जो वारदात को अंजाम देने में इनका साथ देता था.

UK: मां-बेटी ने मचाया कोहराम, एक साथ मिलकर दिया 288 वारदातों को अंजाम
फोटो में बाईं तरफ नटालिया पैटिंसन और दाईं तरफ कैरोलिन पैटिंसन.

लंदन: यूनाइटेड किंगडम (United Kingdom) के लंदन (London) से एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है. यहां एक मां-बेटी के जोड़े ने करीब 288 वारदातों को अंजाम दिया. कोर्ट ने दोषी करार देने के बाद मां-बेटी को जेल भेज दिया है.

288 मामलों में मां-बेटी पर साबित हुआ आरोप

द सन में छपी एक रिपोर्ट के मुताबिक, 288 वारदातों को अंजाम देने वाली मां-बेटी का नाम कैरोलिन पैटिंसन और नटालिया पैटिंसन है. मां की उम्र करीब 43 साल और बेटी की उम्र 22 साल है. मां पर 266 घटनाओं के आरोप साबित हो चुके हैं, जबकि बेटी को 22 मामलों में दोषी पाया गया है. कोर्ट (Court) के अनुसार, मां कैरोलिन ने 150 तो सिर्फ चोरी की वारदातों अंजाम दिया है.  

ये भी पढ़ें- पार्टनर के साथ संबंध बनाते वक्त टूट गया लड़के का प्राइवेट पार्ट, जानिए फिर क्या हुआ

VIDEO

मां-बेटी ऐसे देती थीं वारदात को अंजाम

जान लें कि मां-बेटी चोरी की वारदात को अंजाम देने के लिए पहले जगह की रेकी करती थीं. फिर मां घर या दफ्तर के अंदर चोरी करने जाती थी और बेटी बाहर पहरा देती थी. खतरे की आशंका होते बेटी इशारा करती थी और दोनों बच कर निकल जाते थे. दोनों ने ऐसे ही साथ में मिलकर कई वारदातों को अंजाम दिया.

कोर्ट ने मां-बेटी को सुनाई सजा

दोषी करार दिए जाने के बाद कोर्ट ने मां कैरोलिन को दस महीने की सजा सुनाई, जबकि बेटी को 16 महीने की सजा दी. जज ने कहा कि मां ने ही अपनी बेटी को चोरी करना सिखाया और उसे गलत कामों की तरफ ढकेला.

ये भी पढ़ें- पत्नी ने ऑफिस में डेस्क के नीचे सेक्रेटरी के साथ रंगे हाथ पकड़ा, फिर हुआ ये

गौरतलब है कि दोषी मां-बेटी की गैंग में एक और शख्स भी शामिल था. जिसका नाम डेल वुड है. 23 वारदातों में उसने मां-बेटी का साथ दिया. कोर्ट ने डेल को 9 महीने की सजा सुनाई है.

LIVE TV

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.