close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

जांच में बाधा पर मूलर की टिप्पणी को लेकर ट्रंप ने नाखुशी जताई, जानिए क्या है वजह

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने विशेष वकील रॉबर्ट मूलर की मंशा पर गुरुवार को प्रहार किया. 

जांच में बाधा पर मूलर की टिप्पणी को लेकर ट्रंप ने नाखुशी जताई, जानिए क्या है वजह
.(फाइल फोटो)

वॉशिंगटन: अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने विशेष वकील रॉबर्ट मूलर की मंशा पर गुरुवार को प्रहार किया. मूलर ने एक दिन पहले ट्रंप के बार-बार के इस दावे को साफ तौर पर खारिज कर दिया था कि रूसी हस्तक्षेप की जांच में न्याय में बाधा डालने के आरोपों से उन्हें मुक्त कर दिया गया है. राष्ट्रपति ने 2016 के प्रचार अभियान में डेमोक्रेट प्रत्याशी हिलेरी क्लिंटन को हराने में रूस के प्रयासों पर भी मिश्रित संदेश दिया. दिन के आरंभ में, ट्रम्प ने ट्वीट किया, ‘‘मेरे निर्वाचित होने में रूसी मदद से मेरा कोई लेना-देना नहीं है.’’ यह पहला मौका है जब उन्होंने स्वीकार किया कि रूस ने उनके अभियान में मदद करने की कोशिश की.

व्हाइट हाउस साउथ लॉन में ट्रम्प ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘रूस ने मेरे निर्वाचित होने में मदद नहीं की. आप जानते हैं कि मुझे किसने निर्वाचित कराया? मैंने खुद को निर्वाचित कराया. रूस ने मेरी बिल्कुल मदद नहीं की.’’ मूलर की रिपोर्ट में कहा गया है कि रूस ने ट्रम्प के निर्वाचित होने की उम्मीद में चुनाव में हस्तक्षेप किया, लेकिन उनके निष्कर्षों में यह कहने से बचा गया कि ट्रम्प की जीत में उन प्रयासों का योगदान था.

ट्रम्प के 20 मिनट के उद्गार ने इस बात को रेखांकित किया कि वह जांच को लेकर बेहद परेशान थे. इस जांच की परछाईं दो साल तक उनके राष्ट्रपति रहने पर रही. हालांकि, मूलर ने विशेष वकील के पद से इस्तीफा दे दिया है और उनका कार्यालय बंद हो गया है. डेमोक्रैट सांसद अब महाभियोग की कार्यवाही की संभावना पर विचार कर रहे हैं.

ट्रम्प ने जोर देकर कहा कि वह रूस पर सख्त हैं. हेलसिंकी में जब पिछले साल रूसी राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन से पूछा गया था कि क्या वह ट्रम्प को राष्ट्रपति बनाना चाहते थे तो उन्होंने कहा था, ‘‘हां, मैं चाहता था.’’  मूलर ने बुधवार को रूसी हस्तक्षेप की जांच पर अपनी पहली सार्वजनिक टिप्पणी में ट्रम्प के उन दावों को स्पष्ट रूप से खारिज कर दिया कि विशेष वकील की जांच ने उन्हें आपराधिक गतिविधि के आरोपों से मुक्त कर दिया.

मूलर ने कहा कि उन्होंने ट्रम्प को इन आरोपों से मुक्त नहीं किया कि वह न्याय में बाधा डाल रहे थे. हालांकि, ट्रंप पर किसी अपराध का आरोप लगाना न्याय विभाग के नियमों की वजह से कोई विकल्प नहीं था. मूलर ने कहा, ‘‘अगर हमें विश्वास होता कि राष्ट्रपति ने स्पष्ट रूप से कोई अपराध नहीं किया है, तो हमने ऐसा कहा होता.’’