ऑक्सफोर्ड में पढ़ेंगी मलाला यूसुफजई, 2012 में तालिबान ने सिर में मारी दी थी गोली

मलाला पाकिस्तान में 2012 में लड़कियों के शिक्षा के अधिकार के अभियान के दौरान तालिबान के हमले का शिकार हुई थीं.

ऑक्सफोर्ड में पढ़ेंगी मलाला यूसुफजई, 2012 में तालिबान ने सिर में मारी दी थी गोली
मलाला को 17 साल की उम्र में 2014 में नोबेल शांति पुरस्कार से सम्मानित किया गया. (फाइल फोटो)

लंदन: पाकिस्तानी अधिकार कार्यकर्ता मलाला यूसुफजई ने गुरुवार (17 अगस्त) को ‘ए.. लेवल’ का परिणाम हासिल कर लिया जिसके बाद अब वह दुनिया के कई नेताओं की तरह इस प्रतिष्ठित विश्वविद्यालय में दर्शन, राजनीति और अर्थशास्त्र का अध्ययन करेंगी.

संयुक्त राष्ट्र की शांति दूत ने एक ट्वीट में समाचार की पुष्टि की और उन्होंने गुरुवार (17 अगस्त) को घोषित नतीजों में बोर्ड स्तरीय परीक्षा में सफल सभी छात्रों को बधाई दी. मलाला अभी बर्मिंघम में रहती हैं. करीब पांच साल पहले तालिबान ने उन्हें सिर में गोली मार दी थी और उनकी जान बचाने के लिए सर्जरी की खातिर वायु मार्ग से यहां लाया गया था.

मार्च में, 20 वर्षीय मलाला ने विश्व प्रसिद्ध संस्थान में तीन विषयों के अध्ययन के लिए अपनी ‘सशर्त पेशकश’ का खुलासा किया था. उन्होंने ट्वीट किया, ‘ऑक्सफोर्ड जाने को लेकर इतना उत्साहित!! सभी ए..लेबल छात्रों को बधाई-- सबसे कठिन साल. आगे के जीवन के लिए शुभकामनाएं.’

टेलीग्राफ की रिपोर्ट के मुताबिक, मलाला (20) दर्शनशास्त्र, राजनीति व अर्थशास्त्र पढ़ेंगी. मलाला ने मार्च में बताया था कि ए लेवल में तीन ए पाने की शर्त पर उन्हें ब्रिटेन के विश्वविद्यालय से तीन विषयों को पढ़ने का प्रस्ताव मिला है.

मलाला पाकिस्तान में 2012 में लड़कियों के शिक्षा के अधिकार के अभियान के दौरान तालिबान के हमले का शिकार हुई थीं. इस घटना के बाद वह अंतर्राष्ट्रीय रूप से चर्चा में आईं. इसके बाद वह अपने परिवार के साथ बर्मिघम चली गईं. मलाला को 17 साल की उम्र में 2014 में नोबेल शांति पुरस्कार से सम्मानित किया गया. इसके बाद से वह मानव अधिकारों व शिक्षा की लड़ाई का एक प्रतीक बन गईं.

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.