close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

मना करने के बाद भी उत्तर कोरिया ने गाइडेड वेपन का किया परीक्षण, फिर अमेरिका को दिखाई धौंस

उत्तर कोरिया के विदेश मंत्रालय में अमेरिकी मामलों के विभाग के महानिदेशक क्वान जोंग गन ने एक बयान में आरोप लगाया कि पोम्पिओ उत्तर कोरियाई नेता किम जोंग उन की टिप्पणियों को तोड़-मरोड़ कर पेश कर रहे हैं. 

मना करने के बाद भी उत्तर कोरिया ने गाइडेड वेपन का किया परीक्षण, फिर अमेरिका को दिखाई धौंस
फोटो साभारः AP

सियोल: उत्तर कोरिया ने गुरूवार को कहा कि उसने नए प्रकार के निर्देशित हथियार (टैक्टिकल गाइडेड वेपन) का परीक्षण किया है. पिछले करीब छह महीने में यह पहला ऐसा परीक्षण है. इसके साथ ही उत्तर कोरिया ने अमेरिका के साथ रुकी हुई परमाणु वार्ता से अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ को हटाने की मांग की. ऐसा प्रतीत होता है कि यह परीक्षण मध्यम या लंबी दूरी की वैसी मिसाइलों का नहीं है जिससे बातचीत प्रभावित हो सकती है. इस परीक्षण से उत्तर कोरिया अपने लोगों को बता सकता है कि वह हथियारों के विकास पर जोर दे रहा है.

इसके साथ ही वह अपने उन सैन्य अधिकारियों को भी संदेश सकता है जिनका मानना है कि अमेरिका के साथ कूटनीति कमजोरी का संकेत है. इस बीच, उत्तर कोरिया के विदेश मंत्रालय में अमेरिकी मामलों के विभाग के महानिदेशक क्वान जोंग गन ने एक बयान में आरोप लगाया कि पोम्पिओ उत्तर कोरियाई नेता किम जोंग उन की टिप्पणियों को तोड़-मरोड़ कर पेश कर रहे हैं.

उन्होंने कहा कि आशंका है कि अगर पोम्पिओ फिर से वार्ता में शामिल होते हैं तो वार्ता उलझ जाएगी. उन्होंने कहा कि अमेरिका के साथ बातचीत में पोम्पिओ को नहीं बल्कि किसी अन्य व्यक्ति को शामिल किया जाए जो संवाद करने में अधिक सावधान और परिपक्व हों.

सियोल में इंस्टीट्यूट फॉर फार ईस्टर्न स्टडीज के एक विश्लेषक किम डोंग-यूब ने कहा कि परीक्षण के संबंध में उत्तर कोरिया ने जो विवरण दिया है उससे पता लगता है कि यह संभवत: नव विकसित क्रूज मिसाइल है. इस बीच रूस ने घोषणा की है कि राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के आमंत्रण पर किम इस महीने के अंत तक यहां की यात्रा कर सकते हैं. हालांकि, इस संबंध में और ब्यौरा नहीं दिया गया है.