VIDEO: किम खानदान की रहस्‍यमयी ट्रेन, जिससे 3 पीढ़ियों ने किया सफर

किम का परिवार ही इस हरे रंग और पीली पट्टी वाली ट्रेन में सफर करता है. यह इसलिए भी खास है क्‍योंकि किम खानदान हवाई यात्राओं से परहेज करता है.

VIDEO: किम खानदान की रहस्‍यमयी ट्रेन, जिससे 3 पीढ़ियों ने किया सफर
उत्‍तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग-उन हरे रंग की इसी खास ट्रेन से बीजिंग पहुंचे.(फाइल फोटो)

उत्‍तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग-उन सत्‍ता संभालने के बाद पहली बार विदेशी दौरे के तहत चीन पहुंचे हैं. बाहरी दुनिया को इस बात की उस वक्‍त तक भनक भी नहीं थी लेकिन जैसे ही एक खास ट्रेन ने बीजिंग में दस्‍तक दी तो लोगों को अहसास हो गया कि इस ट्रेन में किम जोंग-उन सवार हैं. ऐसा इसलिए क्‍योंकि किम का परिवार ही इस हरे रंग और पीली पट्टी वाली ट्रेन में सफर करता है. यह इसलिए भी खास है क्‍योंकि किम खानदान हवाई यात्राओं से परहेज करता है. षडयंत्र का खतरा या हवाई उड़ान से डर इसकी वजह हो सकती है. लेकिन जब भी सत्‍ताधारी किम खानदान को उत्‍तर कोरिया से बाहर देखा गया है तो इसी खास ट्रेन से वह उन विदेशी दौरों पर गए हैं.

किम जोंग-इल
किम जोंग-उन के पिता किम जोंग-इल की दिसंबर 2011 में मौत के बाद उनकी यह पहली विदेशी यात्रा है. इल को हवाई यात्रा से नफरत थी. उन्‍होंने करीब एक दर्जन विदेशी दौरे किए. इनमें से अधिकांश दौरे चीन के थे. उस दौरान वह इसी ट्रेन से जाते थे. उन यात्राओं के दौरान ट्रेन में भव्‍य पार्टियां होती थीं. शराब परोसी जाती थी. इंटरटेनमेंट प्रोग्राम होते थे. उनकी यात्राएं हमेशा सीक्रेट रखी जाती थीं. 2001 में जब वह रूस गए थे तो उस दौरान एक रूसी अधिकारी कोंस्‍टेंटिन पुलिकोवस्‍की भी साथ में था. 2002 में उसके हवाले से एक अखबार ने लिखा कि उस तीन सप्‍ताह की यात्रा में फ्रांस की बोर्डिएक्‍स और बियुजोलिएस जैसी महंगी शराब के कई बॉक्‍स थे. लाइव लॉबस्‍टर और पॉर्क बार्बेक्‍यू को खाने के लिए परोसा जाता था. 

चीन में जिनपिंग और किम की मुलाकात, अमेरिका से बात करने को तैयार हुआ नॉर्थ कोरिया: रिपोर्ट्स

किम जोंग-इल की यात्राएं सीक्रेट होती थीं. इस बारे में किसी को भनक नहीं होती थी. 2003 में चीन पहुंचने के कई दिन बाद उनकी यात्रा को सार्वजनिक किया गया. इसी तरह 2009 में जब वह रूस गए तो फोटोग्राफरों को उस यात्रा की फोटो लेने से मना कर दिया गया.

किम ईल-सुंग
उत्‍तर कोरिया के संस्‍थापक और किम जोंग-इल के पिता तो 1984 में पूर्वी यूरोप तक इस ट्रेन से गए.

किम जोंग-उन
किम जोंग फिलहाल चार दिवसीय यात्रा पर चीन पहुंच गए है. किम अपनी पत्नी री सोल जू के साथ इस यात्रा पर पहुंचे और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग से मुलाकात की. रिपोर्ट्स के मुताबिक जिनपिंग से मुलाकात के बाद किम ने कहा है कि नॉर्थ कोरिया, अमेरिका से बातचीत करने के लिए तैयार है. दोनों नेताओं की मुलाकात के दौरान किम जोंग ने चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग को नॉर्थ कोरिया आने का निमंत्रण भी दिया है, जिसे शी ने स्वीकार करते हुए जल्द ही आने की बात कही है.

'शाही भोज'
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक शी ने अपने खास मेहमान किम का ना सिर्फ जोरदार स्वागत किया, बल्कि उनके लिए एक शाही भोज का भी आयोजन किया गया. चीन की राजधानी बीजिंग के एक होटल में आयोजित शाही भोज के दौरान ही दोनों नेताओं ने कई मुद्दों पर बातचीत हुई. भोज के बाद किम ने कहा, 'मेरी शी जिनपिंग से कई मुद्दों पर चर्चा हुई है. मैंने शी के साथ दोनों पक्षों, संबंधों के विकास, वर्तमान में घरेलू स्थिति, कोरियाई प्रायद्वीप पर शांति और स्थिरता बनाए रखने समेत कई अहम मुद्दों पर बात हुई.' वहीं, भोज के बाद शी ने कहा कि किम ने उन्हें लगातार दूसरी बार चीन के राष्ट्रपति चुने जाने पर बधाई दी.