Breaking News
  • देश में आत्‍मनिर्भर भारत सप्‍ताह की शुरुआत
  • दूसरों की ताकत पर निर्भर नहीं रहना चाहिए: रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह
  • कश्‍मीर: शाह फैसल ने अपना दल छोड़ा, प्रशासिनक क्षेत्र में वापस लौटने की अटकलें

कोरोना वायरस का असर! अभी विदेशियों के लिए नहीं खुला यह प्रसिद्ध मठ

थाईलैंड (Thailand) का एक लोकप्रिय पर्यटक स्थल वाट फो रॉयल मॉनेस्‍टरी (Wat Pho Royal Monastery)कोविड-19 महामारी लॉकडाउन के बाद फिर से खुल गया है, हालांकि यहां कुछ प्रतिबंध लगाए गए हैं.

कोरोना वायरस का असर! अभी विदेशियों के लिए नहीं खुला यह प्रसिद्ध मठ
वाट फो रॉयल मॉनेस्‍टरी (रायटर्स)

बैंकाक: थाईलैंड (Thailand) का एक लोकप्रिय पर्यटक स्थल वाट फो रॉयल मॉनेस्‍टरी (Wat Pho Royal Monastery)कोविड-19 महामारी लॉकडाउन के बाद फिर से खुल गया है, हालांकि यहां कुछ प्रतिबंध लगाए गए हैं. 

यह मठ 46 मीटर लंबी (151 फुट लंबी) रिक्लाइनिंग बुद्धा की सोने की पत्‍ती से ढकी हुई मूर्ति के लिए जाना जाता है. यह देश का सबसे बड़ा मठ है और यह अपने भित्ति चित्र और सतहों को सोने से कवर करने के लिए लोकप्रिय है.

मठ खुल गया है ले‍किन विदेशियों के लिए यहां प्रवेश प्रतिबंधित है. मठ के बाहर लगे साइन बोर्ड में लिखा था, "केवल थाई के लिए खुला है" (Open for Thai only) और "अभी विदेशियों के लिए नहीं खुला है" (NOW NOT OPEN FOR FOREIGNERS). 

ये भी पढ़ें: कोरोना वायरस: दिल्ली के अस्पतालों में नहीं बची जगह, एक के ऊपर एक रखे जा रहे शव

हालांकि, देश में विदेशियों के आवागमन को प्रतिबंधित करने को लेकर थाई सरकार ने कोई प्रत्यक्ष निर्देश नहीं दिए हैं, लेकिन लोकप्रिय पर्यटन स्थल के अधिकारियों ने एक मीडिया संगठन को बताया कि मठ को विदेशी लोगों से COVID 19 के फैलने का डर है. लिहाजा उन्होंने यह प्रतिबंध लगाए हैं.

विट आर्टिंडा ने कहा, "कई देशों में प्रकोप अभी भी जारी है, इसलिए हमें सरकार द्वारा दी गई सलाह के अनुसार सतर्क रहना होगा." 

अधिकारियों ने यह भी दावा किया है कि प्रतिबंध आंशिक रूप से चल रहे निर्माण कार्य के कारण भी लगाया गया है. विट ने कहा, "विदेशी पर्यटकों को मंदिर में प्रति यात्रा 200 बीएचटी ($ 6.50) का भुगतान करना पड़ता है." "जब वे पैसे का भुगतान करें और इतनी सारी चीजें न देख सकें जो वे देखना चाहते हैं, तो हमें डर है कि ऐसे में वे निराश हो सकते हैं."

बता दें कि थाईलैंड में अब तक 58 मौतों के साथ 3,125 लोगों में संक्रमण की सूचना है.